+

पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के निधन पर फैली अफवाहों से मचे बवाल पर मामला दर्ज

पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के निधन को लेकर सोशल मीडिया पर फैली अफवाहों से मचे बवाल के बाद पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया। भाजपा नेता और पूर्व पार्षद सुधीर देड़गे की शिकायत पर यह मामला भारतीय दंड विधान की धारा 188 के तहत दर्ज किया गया है।
पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के निधन पर फैली अफवाहों से मचे बवाल पर मामला दर्ज
पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के निधन को लेकर सोशल मीडिया पर फैली अफवाहों से मचे बवाल के बाद पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ शुक्रवार को आपराधिक मामला दर्ज किया। सर्राफा पुलिस थाने के प्रभारी सुनील शर्मा ने बताया कि स्थानीय भाजपा नेता और पूर्व पार्षद सुधीर देड़गे की शिकायत पर यह मामला भारतीय दंड विधान की धारा 188 (किसी सरकारी अधिकारी का आदेश नहीं मानना) के तहत दर्ज किया गया है।
उन्होंने बताया कि शिकायतकर्ता ने महाजन के निधन को लेकर सोशल मीडिया पर फैली अफवाह की पोस्ट से जुड़ा एक स्क्रीनशॉट भी हमें सौंपा है। हम साइबर जांच जरिए पता लगाने की कोशिश करेंगे कि सोशल मीडिया पर इस अफवाह की शुरुआत आखिर किस व्यक्ति ने की थी?
थाना प्रभारी ने बताया कि जिला प्रशासन ने सोशल मीडिया पर ऐसे संदेश प्रसारित करने के खिलाफ दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत रोक लगा रखी है जिनसे समाज और कानून-व्यवस्था की स्थिति पर विपरीत प्रभाव पड़ता हो। महाजन के स्थानीय समर्थकों में गिने जाने वाले देड़गे ने पुलिस थाने में दर्ज शिकायत में कहा कि ऐसे निधन की झूठी खबर से जन मानस में गहरा मानसिक क्षोभ उत्पन्न हुआ और इस खबर के खिलाफ आम लोगों की भावनाएं भड़कने और उनकी भीड़ जमा होने की आशंका पैदा हो गई थी।
गौरतलब है कि महाजन के निधन की अफवाहों का बाजार गुरुवार रात इस कदर गर्म हो गया था कि कांग्रेस नेता शशि थरूर और कुछ मीडिया संगठनों तक ने ट्विटर पर महाजन के निधन की गलत जानकारी पोस्ट कर दी थी। भाजपा नेताओं ने जब कहा कि पूर्व लोकसभा अध्यक्ष पूरी तरह स्वस्थ हैं, तो थरूर और अन्य ने अपने ट्वीट हटा लिए थे।
इस बीच, थरूर ने शुक्रवार को ट्विटर पर बताया कि उन्होंने महाजन के बेटे से फोन पर बात की है और 78 वर्षीय महाजन के निधन की गलत जानकारी के ट्वीट के लिए उनसे क्षमा याचना की है। महाजन के निधन की अफवाहों के जोर पकड़ने के बाद उनके छोटे बेटे मंदार महाजन ने गुरुवार रात वीडियो संदेश जारी कर कहा था कि उनकी मां एकदम स्वस्थ हैं। मंदार ने लोगों से अपील भी की थी कि वे इन अफवाहों पर ध्यान न दें।
महाजन के एक स्थानीय सहयोगी ने बताया कि पूर्व लोकसभा अध्यक्ष को बुधवार शाम बुखार की शिकायत पर शहर के बॉम्बे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। लेकिन इलाज के बाद अब उन्हें बुखार नहीं है और वह आरटी-पीसीआर जांच में कोविड-19 से भी मुक्त पाई गई हैं। उन्होंने बताया कि फिलहाल स्वास्थ्य लाभ ले रहीं महाजन की हालत एकदम ठीक है।
facebook twitter instagram