+

रूस ने कहा- यूक्रेनी बंदरगाह पर हमले में सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया गया

रूस के रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने रविवार को कहा कि यूक्रेन के ओडेसा बंदरगाह पर किए गए हवाई हमले में केवल सैन्य अड्डों को निशाना बनाया गया।
रूस ने कहा- यूक्रेनी बंदरगाह पर हमले में सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया गया
रूस के रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने रविवार को कहा कि यूक्रेन के ओडेसा बंदरगाह पर किए गए हवाई हमले में केवल सैन्य अड्डों को निशाना बनाया गया। बंदरगाह से अनाज का निर्यात फिर शुरू करने के लिए रूस और यूक्रेन द्वारा एक समझौते पर हस्ताक्षर किए जाने के एक दिन बाद मॉस्को ने यह हमला किया।
यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर ज़ेलेंस्की ने शनिवार को कहा.......
मंत्रालय के प्रवक्ता इगोर कोनाशेनकोव ने एक दैनिक ब्रीफिंग में कहा, ‘‘ओडेसा शहर में बंदरगाह पर एक शिपयार्ड क्षेत्र में सटीक निशाना लगाने वाली लंबी दूरी की मिसाइलों से किए गए हमले में एक यूक्रेनी युद्धपोत और एक गोदाम नष्ट हो गया, जहां अमेरिका द्वारा कीव को भेजी गईं विध्वंसक पोत हार्पून मिसाइल रखी गई थीं।’’ यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर ज़ेलेंस्की ने शनिवार शाम टेलीविजन पर अपने संबोधन में कहा कि ओडेसा पर हमले ने रूस के साथ बातचीत की संभावना को खत्म कर दिया है। यूक्रेन की सेना ने शनिवार को कहा कि मॉस्को ने ओडेसा बंदरगाह पर चार क्रूज मिसाइलों से हमला किया, जिनमें से दो को यूक्रेन की वायु रक्षा प्रणाली ने मार गिराया।
 संयुक्त राष्ट्र और तुर्की के साथ एक जैसे समझौतों पर हस्ताक्षर किए
जानकारी के मुताबिक  कमान प्रवक्ता नतालिया हुमेन्युक ने कहा कि अनाज भंडारण की कोई सुविधा प्रभावित नहीं हुई। हालांकि, तुर्की के रक्षा मंत्री ने कहा कि उन्हें यूक्रेनी अधिकारियों से खबर मिली है कि एक मिसाइल अनाज गोदाम पर गिरी, जबकि दूसरी मिसाइल इसके नजदीक गिरी लेकिन ओडेसा बंदरगाह पर माल लदान की सुविधा प्रभावित नहीं हुई। रूस और यूक्रेन ने शुक्रवार को इस्तांबुल में संयुक्त राष्ट्र और तुर्की के साथ एक जैसे समझौतों पर हस्ताक्षर किए, जिसका उद्देश्य लाखों टन यूक्रेनी अनाज के साथ-साथ रूसी अनाज और उर्वरक के निर्यात का मार्ग प्रशस्त करना है।
होम :
facebook twitter instagram