+

सचिन पायलट की खुली बगावत, विधायक दल की बैठक में नहीं होंगे शामिल, बोले- अल्पमत में है गहलोत सरकार

सचिन पायलट की खुली बगावत, विधायक दल की बैठक में नहीं होंगे शामिल, बोले- अल्पमत में है गहलोत सरकार
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच चल रहा मतभेद अब खुलकर सामने आ गया है। सचिन पायलट ने अब खुलकर बगावती तेवर अपना लिया है। पायलट ने साफ कर दिया है कि सोमवार को होने वाली विधायक दल की बैठक में वह शामिल नहीं होंगे। बता दें सोमवार सुबह 10:30 बजे विधायक दल की बैठक होनी है।
 
सचिन पायलट के साथ ही बैठक में उनके समर्थक विधायक भी शामिल नहीं होंगे। खबर आ रही है कि पायलट की सोनिया गांधी और राहुल गांधी से बातचीत नहीं हुई है। वहीं, पायलट खेमे की ओर से कहा जा रहा है कि गहलोत सरकार अल्पमत में है। इसके साथी ही पायलट ने कहा है कि उनके साथ कई निर्दलीय विधायक भी है। 
 
बताया जा रहा है कि सचिन पायलट समेत 30 विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं। उधर, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवस पर विधायकों की बैठक में 100 से अधिक विधायकों का शामिल होने का दावा किया जा रहा है। 
 
वहीं, सियासी संकट के बीच, डिप्टी सीएम सचिन पायलट अपने कुछ विधायकों के साथ दिल्ली में हैं। कांग्रेस घेमे में अंधरूनी कलेश का फायदा अब भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) उठाने में  जुट गई है। खबर आ रही है कि हाल ही कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए ज्योदिरादित्य सिंधिया ने सचिन पायलट से करीब 40 मिनट तक बातचीत की है।
 
कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सचिन पायलट के समर्थन में ट्वीट किया है। सिंधिया ने ट्वीट कर कहा, सचिन पायलट को दरकिनार किए जाने से मैं दुखी हूं। ये दिखाता है कि कांग्रेस में काबिलियत और क्षमता की कोई अहमियत नहीं है। बताया  जाता है कि सिंधिया और पायलट में गहरी दोस्ती जगजाहिर है।
facebook twitter