+

यह शख्श इस कोरोना काल में बना गरीब बच्चों के लिए 'बुकमैन', बांटते हैं मुफ्त में किताबें

हमेशा मुश्किल की घड़ी में असली हीरो सामने आते हैं। संदीप कुमार नाम का एक शख्श है जो असली हीरो हैं। बता दें कि कोरोना संकट से पहले वह शिक्षक थे। लेकिन अब वह ऐसा नेक काम कर रहे हैं
यह शख्श इस कोरोना काल में बना गरीब बच्चों के लिए 'बुकमैन', बांटते हैं मुफ्त में किताबें
 हमेशा मुश्किल की घड़ी में असली हीरो सामने आते हैं। संदीप कुमार नाम का एक शख्श है जो असली हीरो हैं। बता दें कि कोरोना संकट से पहले वह शिक्षक थे। लेकिन अब वह ऐसा नेक काम कर रहे हैं जिससे कई बच्चों का जीवन सफल बन जाएगा। जिसने भी उनके इस काम के बारे में सुना उसने दिल से इन्हें सलाम किया। अब संदीप एक मोबाइल लाइब्रेरी चलाते हैं। स्लम में रहने वाले बच्चो को वह इसके माध्यम से किताबें मुहैया करवाते हैं।


बेसिक चीजें नहीं हैं बच्चों के पास 

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, संदीप ने कहा, पहले मैं स्कूल में टीचर था। फिर मुझे इस बात का अहसास हुआ कि बच्चों के पास को बेसिक चीजें ही नहीं हैं। जैसे पेंसिल, नोटबुक, किताबें तो मैंने इस तरीके से उनकी मदद करने की सोची।

बच्चे पढ़ सकेंगे डिजिटली भी

ओपन आई फाउंडेशन वेबसाइट की एक रिपोर्ट के अनुसार,  इस नए प्रोजेक्ट का नाम होप_ऑन_वहील है। इस अवसर पर स्टेट लाइजन ऑफिसर मिस्टर विक्रम राणा जी ने Flag off किया। इस व्हीकल के एक साइड किताबों की लाइब्रेरी बनाई गई है और दूसरी तरफ एलईडी लगाई गई है, ताकि बच्चों को डिजिटल माध्यम से पढ़ाया जा सके और इसी व्हीकल के माध्यम से आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं को सेनेटरी पैड भी उपलब्ध करवाई जाएंगे।


आ रहे हैं लोग मदद के लिए आगे 

संदीप की मदद के लिए लोग ट्वीट के जरिए आगे आ रहे हैं। संदीप के इस नेक काम की लोगों ने जमकर सरहाना की है। 


यूजर्स ने की संदीप की जमकर तारीफ 

1. 2. 3. 4. 5. 6. 7. 8.
facebook twitter