+

आप्रेशन ब्लू स्टार की बरसी पर सरबत खालसा के जत्थेदार ने कौम के नाम पढ़ा संदेश

आप्रेशन ब्लू स्टार के प्रमुख समारोह के दौरान श्री अकाल तख्त साहिब में हुए प्रमुख समारोह के दौरान शिरकत करने के बाद श्री अकाल तख्त साहिब के सचिवालय के नजदीक 2015 में हुए सरबत खालसा के दौरान नियुक्त हुए
आप्रेशन ब्लू स्टार की बरसी पर सरबत खालसा के जत्थेदार ने कौम के नाम पढ़ा संदेश
लुधियाना- अमृतसर : आप्रेशन ब्लू स्टार के प्रमुख समारोह के दौरान श्री अकाल तख्त साहिब में हुए प्रमुख समारोह के दौरान शिरकत करने के बाद श्री अकाल तख्त साहिब के सचिवालय के नजदीक 2015 में हुए सरबत खालसा के दौरान नियुक्त हुए कार्यकारी जत्थेदार भाई ध्यान सिंह मंड ने सिख कौम के नाम अपना संदेश पढ़ते कहा कि जून 1984 में घटित आप्रेशन ब्लू स्टार के दौरान सिखों का बड़ा जानी माल और धार्मिक तौर पर काफी नुकसान हुआ है। उसी दिन से कौम खजल-खवार होती आ रही है लेकिन इसमें कोई अंदेशा नहीं कि कौमी परवानों ने इसके बाद भी हार नहीं मानी और हुकूमत को उसकी बोली के अनुरूप ही जवाब दिया। लेकिन सिख ही अपने कौमी शहीदों के प्रति अपने अंदर दुविधा बनाए बैठी है। चारों तरफ धड़ेबंदी का बोल बाला है। कौमी मुददे किसी को याद नहीं रहे। भाई मंड ने यह भी कहा कि गुरू ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी को लेकर किसी भी सरकार ने कोई कार्यवाही नहीं की और अलग-अलग जेलों में बंद बेगुनाह अपनी सजाएं पूरी कर चुके। सिखों की रिहाई के लिए कोई भी उपाय नहीं हुए। 
इसी दौरान पत्रकारों से बातचीत करते भाई मंड ने संगत को श्री हरिमंदिर साहिब जाने पर लगाई गई सरकारी नाकों की निंदा करते कहा कि वह बड़ी जददोजहद के उपरांत गुरू घर में माथा टेकने पहुंचे है। 

- सुनीलराय कामरेड
facebook twitter