+

सरोज खान ने महज 13 साल की उम्र में की थी 41 साल के शख्स से शादी,बेहद दर्द भरी थी शादीशुदा जिंदगी

सरोज खान ने महज 13 साल की उम्र में की थी 41 साल के शख्स से शादी,बेहद दर्द भरी थी शादीशुदा जिंदगी
बॉलीवुड जगत में डांस के माध्यम से एक अलग मुकाम हासिल करने वाली मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान ने आज हम सभी को हमेशा-हमेशा के लिए अलविदा कह दिया है। 71 साल की सरोज खान का कार्डियक अरेस्ट के चलते मुंबई में निधन हो गया। बता दें कि सरोज खान 17 जून से मुंबई के बांद्रा में स्थित गुरु नानक हॉस्पिटल में भर्ती थीं दरअसल उन्हें सांस लेने में ज्यादा तकलीफ हो रही थी,हालांकि उनका कोरोना टेस्ट भी हुआ, जो नेगेटिव बताया जा रहा है,बावजूद इसके सरोज खान अब हम सबके बीच नहीं रही हैं।


सरोज खान ने बीती रात करीब 1 बजकर 52 मिंट पर दम तोड़ा है। वहीं आज सुबह मलाड स्थिति मुस्लिम कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया।  कोरियोग्राफर के अंतिम संस्कार में सिर्फ परिवार के लोग ही मौजूद थे। तो चलिए आपको बताते हैं उनकी फैमिली और पर्सनल लाइफ के बारे में कुछ खास बाते।


बता दें कि सरोज खान ने अपने 40 साल के करियर में करीब 2000 से अधिक गानों को कोरियॉग्राफ किया है। मगर आज हम यहां बात कर रहे हैं उनकी शुरुआती लाइफ, फैमिली और बच्चों के बारे में। जी हां सरोज खान के तीन बच्चे थे,उनके बच्चों का नाम हामिद, हिना और सुकन्या खान है। सरोज खान की पहली बहुत छोटी सी उम्र में ही हो गयी थी तब उन्होंने अपने से  28 साल बड़े शख्स से पहली शादी की थी।


14 साल की उम्र में बनी मां

साल 1962 में सरोज खान ने फिल्म कोरियॉग्राफर बी. सोहनलाल के साथ शादी के बंधन में बंधी,तब सरोज खान की उम्र महज 13 साल की थीं और सोहनलाल 41 साल के। सोहनलाल पहले से शादीशुदा भी थे और इस शादी से पहले उनके 4 बच्चे थे।


खैर,14 साल की उम्र में सरोज खान पहली बार मां भी बन गईं और उन्हें बेटे को जन्म दिया। अपने एक  इंटरव्यू में सरोज खान ने बताया था कि सोहनलाल से उनकी शादी कैसे हुई थी। उन्होंने कहा था, 'उन दिनों वह स्कूल में पढ़ाई कर रही थीं। एक दिन मेरे डांस मास्टर सोहनलाल ने एक काला धागा मेरे गले में बांध दी और मेरी शादी हो गई।


वहीं कुछ साल ही बीते जिसके बाद कुछ साल के बाद सरोज खान और सोहनलाल  दोनों एक-दूसरे से अलग हो गए। मगर आपसी रिश्ते खराब होने का बावजूद सरोज खान उनके असिस्टेंट के तौर पर काम करती रहीं। इसके बाद जब सोहनलाल को हार्ट अटैक आया तब एक बार वे फिर से एक-दूसरे के करीब आये और अपने रिलेशनशिप को फिर से बढ़ाने की कोशिश की। जिसके बाद दोनों की एक बेटी हुई। बेटी हिना होने के बाद सोहनलाल सरोज और बच्चों को छोड़कर मद्रास चले गए।


बताया जाता है बेशक सोहनलाल ने सरोज से शादी तो कर ली थी, लेकिन अपनी पहली शादी की बात सरोज से हमेशा छिपा कर रखी। शादी के बाद उनके दो बच्चे हुए लेकिन सोहनलाल ने दोनों बच्चों को अपना नाम देने से भी माना कर दिया था, जिसके बाद सरोज खान ने अकेले ही अपने बच्चों की परवरिश की।

 

गौरतलब है सरोज खान ने अपने बच्चों को पालने के लिए बहुत मेहनत की और उन्होंने 1974 में कोरियॉग्रफर के तौर पर अपने करियर शुरू किया,जिसके बाद कई बड़ी फिल्मों में कोरियॉग्राफ करते हुएबॉलीवुड इंडस्ट्री में वो फेमस हो गई।


एक समय बाद जब हालात काबू में आने लगे तो साल 1975 में सरोज खान ने अपनी मैरिड लाइफ के बारे में एक बार फिर से सोचा और उन्होंने सरदार रोशन खान से शादी रचाई। रोशन खान से उन्हें एक बेटी हुई, जिसका नाम  सुकन्या है। इस वक्त वो दुबई में अपना डांस इंस्टीट्यूट चलाती हैं।


बॉलीवुड केसरी :
facebook twitter