सर्वोदय विद्यालय बना केंद्रीय विद्यालय

नई दिल्ली : दिल्ली सरकार के प्रेसिडेंट एस्टेट क्षेत्र स्थित डॉ. राजेंद्र प्रसाद सर्वोदय विद्यालय को अब केंद्र सरकार चलाएगी। केंद्र सरकार के निवेदन पर दिल्ली सरकार ने स्कूल को केंद्र सरकार को सौंपने का निर्णय लिया है। अब केंद्र सरकार इस सर्वोदय विद्यालय को केंद्रीय विद्यालय के तौर पर चलाएगी। शिक्षा निदेशालय के मुताबिक स्कूल में विद्यार्थी तो वही रहेंगे, लेकिन केंद्र सरकार द्वारा संचालित होने के चलते यहां के शिक्षकों को अन्य सरकारी स्कूल में शिफ्ट कर दिया जाएगा।

इस संबंध में दिल्ली के उप मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि दिल्ली सरकार ने स्कूल को केंद्र सरकार को देने की सहमति दे दी है। वहीं उन्होंने ट्वीट में यह भी लिखा है कि दिल्ली सरकार के जिस स्कूल का अब केंद्रीय विद्यालय के रूप में संचालन होगा, वही 2015 तक भ्रष्टाचार का अड्डा बना हुआ था। उन्होंने लिखा कि शिक्षा मंत्री के रूप में उनका पहला छापा इसी स्कूल में था। महज एक साल के भीतर यह स्कूल इतना बदल गया था कि यहां ‘मुखर्जी सर की क्लास’ भी लगी थी। 

ट्वीट में सिसोदिया ने छापे के दौरान की वीडियो भी पोस्ट की है और बताया है कि किस तरह उस समय स्कूल में भ्रष्टाचार हो रहा था। उन्होंने कहा कि छापे के दौरान उन्होंने यह भी पाया था कि स्कूल में सुविधाओं का बहुत अभाव है। इसके मद्देनजर स्कूल में सुविधाएं मुहैया करवाने की दिशा में काम किया। 

सिसोदिया ने कहा कि यह स्कूल के इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत होने का ही नतीजा है कि यहां दो साल तक शिक्षक दिवस के दिन ‘मुखर्जी सर की क्लास’लगी थी। आजादी के कुछ सालों बाद तत्कालीन भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा बनाए गए इस स्कूल को 1962 में दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय को दे दिया गया था। 
Download our app