सतीश पूनिया को राजस्थान भाजपा का नया प्रदेशाध्यक्ष नियुक्त किया

जाट नेता व विधायक सतीश पूनिया को राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का नया प्रदेशाध्यक्ष नियुक्त किया गया। पूनिया की नियुक्ति लगभग ढाई महीने से खाली पड़े इस पद पर ऐसे समय की गयी है जब राज्य में निकाय चुनावों की तैयारी चल रही है। दो विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव भी होना है। 

भाजपा के एक प्रवक्ता ने यहां कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पूनिया को प्रदेशाध्यक्ष नियुक्त किया है। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरूण सिंह ने उनकी नियुक्ति का पत्र शनिवार को नयी दिल्ली में जारी किया। पत्र के अनुसार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पूनिया को राजस्थान में पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है और यह नियुक्ति तत्काल प्रभाव से लागू होगी। 

नियुक्ति की जानकारी जयपुर पहुंचते ही पूनिया को बधाई देने वालों का तांता लग गया। पूनिया ने इसे कार्यकर्ताओं का सम्मान बताया और कहा कि पार्टी जनता की अपेक्षाओं पर खरा उतरने की कोशिश करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे पार्टी ने जो अवसर दिया है, मेरा जो सम्मान किया है, मैं समझता हूं कि यह कार्यकर्ताओं का सम्मान है और कार्यकर्ताओं का सम्मान पार्टी की परंपरा रही है। मैं कार्यकर्ताओं के इस सम्मान को केंद्र की अपेक्षा के अनुरूप और बखूबी निभाऊंगा, ये मेरी पुरजोर कोशिश रहेगी।’’ 

राज्य में भाजपा इस समय विपक्ष की भूमिका में है। पूनिया ने कहा, ‘‘हमारा प्रतिपक्ष धारदार बने और सदन व सदन के बाहर सड़क पर हमारी भूमिका और प्रभावी होगी इसकी हमारी पूरी कोशिश रहेगी।’’ उल्लेखनीय है कि राजस्थान में 50 से ज्यादा स्थानीय निकायों में नवंबर में चुनाव होने हैं। उसके बाद ग्राम पंचायतों के चुनाव होने हैं जिन्हें काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। इसके अलावा दो विधानसभा सीटों पर उपचुनाव भी होना है। 

इसका जिक्र करते हुए पूनिया ने कहा, ‘‘आगे निकाय चुनाव हैं, दो विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव हैं। पार्टी का कार्यकर्ता परिश्रम की पराकाष्ठा करके निश्चित रूप से विजयश्री हासिल करेगा और कांग्रेस को निश्चित रूप से जमीन पर जवाब देगा। इस बात की हमारी पुरजोर कोशिश रहेगी।’’ 

इसके साथ ही पूनिया ने सत्तारूढ़ कांग्रेस पर निशाना साधा और उस पर जनता के साथ छलावा करने का आरोप लगाया। पूनिया ने कहा, ‘‘पिछले नौ महीने में कांग्रेस पार्टी ने बहुत छलावा किया, राजस्थान की जनता के साथ किसान कर्जमाफी के नाम पर, दूसरा बेरोजगारों को छला गया तथा तीसरा कानून व्यवस्था की स्थिति बदतर हुई है।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘राजस्थान की जनता की सुरक्षा की हम चिंता करते हैं, किसान और बेरोजगार की भी चिंता करते हैं। इसलिए ऐसे तमाम बुनियादी मुद्दे जिन पर निश्चित रूप से काम करने की जरूरत है तो हमारी भूमिका सदन में और सड़क पर भी प्रभावी हो। निश्चित रूप से राजस्थान की जनता ही हमारी हमारी प्राथमिकता रहेगी, जनता के हितों का संरक्षण ही हमारी प्राथमिकता रहेगी।’’
उल्लेखनीय है कि राजस्थान में भाजपा के तत्कालीन प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी का 24 जून को निधन हो गया। तब से यह पद खाली था। संघ पृष्ठभूमि के जाट नेता पूनिया मूल रूप से राजगढ़ (चुरू) के हैं और आमेर (जयपुर) से विधायक हैं। वे लगभग डेढ़ दशक से भाजपा के प्रदेश महामंत्री रहे हैं और प्रदेश प्रवक्ता भी हैं। संघ (आरएसएस) की भूमिका संबंधी एक सवाल पर पूनिया ने कहा, ‘‘संघ नहीं होता तो हिंदुस्तान नहीं होता। संघ ऐसी ताकत है जिसकी बदौलत भगवा का हर जगह सम्मान हो रहा है।’’ 
Tags : भारतीय जनता पार्टी,Bharatiya Janata Party,गुजरात,Gujarat,उना कांड,विधायक प्रदीप परमार,Una Kand,MLA Pradeep Parmar ,Satish Poonia,State President,Rajasthan BJP