ड्रोन हमले के बाद बाजार को आश्वस्त करने की कोशिश कर रही सउदी अरब की कंपनी अरामको

रियाद :  सऊदी अरब की कंपनी अरामको कच्चा तेल संयंत्रों पर ड्रोन हमले के बाद बाजार में फैली घबराहट दूर करने की कोशिशें कर रही है। 

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिन नसीर ने बाजार को आश्वस्त करने की कोशिश करते हुए कहा, ‘‘उत्पादन क्षमता को पुन: पुराने स्तर पर लाने के लिये काम चल रहा है।’’ 

ब्लूमबर्ग न्यूज ने भी खबर दी है कि अरामको को कुछ ही दिनों में अधिकांश परिचालन पुन: शुरू कर लेने की उम्मीद है। 

यह ड्रोन हमला ऐसे समय हुआ है जब कंपनी 100 अरब डॉलर की पूंजी जुटाने के लिये आईपीओ (प्रथम सार्वजनिक शेयर बिक्री) की तैयारी में है। विश्लेषकों का मानना है कि इस हमले से शायद ही आईपीओ की योजना टले लेकिन कंपनी के मूल्यांकन पर इसका असर देखने को मिल सकता है। 

सऊदी इंक किताब के लेखक एलेन वाल्ड ने कहा, ‘‘सउदी अरब के पास प्रचूर मात्रा में तेल का भंडार है जिससे उपभोक्ताओं की मांग को पूरा किया जा सकता है। मुझे नहीं लगता कि इस कारण अरामको को किसी तरह का आर्थिक नुकसान होने वाला है।’’ 

ऐसा माना जाता है कि सउदी अरब के पास कई भूमिगत भंडारण संयंत्र हैं जिनमें विभिन्न परिशोधित पेट्रोलियम उत्पादों के लाखों बैरल भंडारित हैं। संकट के समय इनका इस्तेमाल किया जा सकता है। 
Tags : Railway Board,Punjab Kesari,हाजीपुर,Hajipur,246 Water Vending Machines ,Aramco,Saudi Arabian,drone attack