+

सावन का दूसरा सोमवार आज, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हो रही भगवान शिव की पूजा

सावन का दूसरा सोमवार आज, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हो रही भगवान शिव की पूजा
सावन के दूसरे सोमवार में कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सभी मंदिरों में सोशल डिंस्टेंसिंग का पालन करते हुए भगवान शिव का दर्शन-पूजन किया गया। राज्य के वाराणसी प्रयागराज, लखनऊ और बाराबंकी के साथ अन्य शहरों समेत ग्रामीण क्षेत्रों में भी भक्त भगवान शिव की आराधना में लीन हैं। 
लखनऊ के डालीगंज के मनकामेशवर मंदिर में लोगों ने मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भोलेनाथ के दर्शन किए। लोगों ने दर्शन करने के साथ-साथ मेगास्टार अमिताभ बच्चन व उनके पूरे परिवार के कोरोना से मुक्त होने की भी कामना की। 
लॉकडाउन खुलने के बाद 5:30 बजे से ही मंदिर के बाहर महिलाओं व पुरुषों की अलग-अलग कतारें लगने लगी थीं। दूसरे सोमवार को भोलेनाथ पर जलाभिषेक करने के लिए दो पाइप अरघा लगाए गए जिससे लोगों ने जलाभिषेक किया। इससे पूर्व महंत देव्या गिरि ने भोलेनाथ की आरती और श्रृंगार किया। इसके बाद दर्शन के लिए पट खोले गए। 

श्रीपद्मनाभ स्वामी मंदिर प्रबंधन पर शाही परिवार का अधिकार SC ने रखा बरकरार


इस बार सावन में कांवड़ यात्रा प्रतिबंधित होने के बाद भी लोग बड़ी संख्या में प्रदेश के विख्यात शिव मंदिरों में दर्शन करने पहुंचे हैं। वाराणसी में सावन के दूसरे सोमवार पर श्रीकाशी विश्वनाथ के दर्शन को भक्त उमड़ पड़े। मंदिर के चारों तरफ लम्बी-लम्बी कतार लग गईं। पुलिस तथा मंदिर प्रशासन की देखरेख में लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भगवान शिव का दर्शन और पूजन की। 
प्रयागराज में भी यही स्थिति रही। यहां भी पूरे नियम-कायदों के साथ लोगों ने भगवान के दर्शन किए। कोरोना संक्रमण को देखते हुए शिवालयों में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। हर मंदिर के गेट पर सैनिटाइजर व थर्मल स्क्रीनिंग का प्रबंध किया गया है। मास्क लगाने वाले श्रद्घालु को ही मंदिर में प्रवेश दिया जा रहा है। लखनऊ में मनकामेश्वर, गंगोली शिवालय, शिव कचहरी शिवालय, पंचमुखी, शिवालयों में भक्तों की सुरक्षा का विशेष प्रबंध किया गया है। बाराबंकी के कैलाश आश्रम मंदिर, नागेश्वर नाथ मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन कर श्रद्घालुओं ने भगवान का जलाभिषेक किया। 
facebook twitter