मुठभेड़ में नागरिक की मौत के विरोध में अलगाववादियों ने बुलाया बंद, जन-जीवन प्रभावित

जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद-रोधी अभियान में नागरिकों के मारे जाने के विरोध में अलगाववादियों ने शुक्रवार को बंद का आह्वान किया है। अलगाववादियों के इस बंद को पूरा समर्थन मिल रहा है। घाटी और राज्य के अन्य जगहों पर दुकानें, सार्वजनिक परिवहन, व्यापारिक प्रतिष्ठान और शैक्षणित संस्थान बंद हैं।

घाटी में गुरुवार को दो मुठभेड़ों में कुल नौ लोग मारे गए। पांच आतंकवादियों, दो नागरिकों के मारे जाने के साथ ही दो जवान भी शहीद हो गए। सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाईज उमर फारूक और यासीन मलिक की अगुवाई वाले जेआरएल (संयुक्त प्रतिरोध नेतृत्व) ने सुरक्षा एजेंसियों के हाथों निर्दोष कश्मीरी लोगों के मारे जाने का आरोप लगाते हुए बंद का आह्वान किया।

jammu & Kashmir Police

किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए प्रशासन ने एहितयात के तौरा पर स्कूल और कॉलेज बंद करने के आदेश दिए है। आज होने वाली स्नातकोत्तर प्रवेश परीक्षा भी कश्मीर विश्वविद्यालय द्वारा रद्द कर दी गई। श्रीनगर और अन्य जिलों के संवेदनशील इलाकों में पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों की भारी तैनाती की गई है।

अवंतीपोरा और श्रीनगर एयरबेस पर आतंकी हमले की आशंका, हाई अलर्ट पर सुरक्षाबल

Download our app
×