+

शशि थरूर ने विदेश मंत्री से किया आग्रह, कहा- कोरोना की जांच के प्रमाणपत्र को लेकर राष्ट्रीय नीति बनानी चाहिए

शशि थरूर ने विदेश मंत्री से किया आग्रह, कहा- कोरोना की जांच के प्रमाणपत्र को लेकर राष्ट्रीय नीति बनानी चाहिए
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने विदेश मंत्री एस जयशंकर से आग्रह किया है कि अगर प्रवासी भारतीय नागरिकों को विदेश से लाने के लिए ‘कोविड मुक्त’ होने का प्रमाणपत्र अनिवार्य है तो फिर सरकार को इसका प्रबंध करना चाहिए और इसकी जिम्मेदारी प्रवासियों पर नहीं डालनी चाहिए।

उन्होंने जयशंकर को लिखे पत्र में यह आग्रह भी किया कि कोरोना वायरस की जांच के प्रमाणपत्र को लेकर एक राष्ट्रीय नीति बनानी चाहिए। थरूर के मुताबिक ‘वंदे भारत मिशन’ लगातार चल रहा है, किंतु अभी तक बड़ी संख्या में भारतीय स्वदेश नहीं आ सके हैं।

लगातार तीसरे दिन सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए भारतीय और चीनी सेनाओं ने की मेजर जनरल-स्तर की वार्ता

उन्होंने कहा, ‘‘केरल सरकार ने विदेश से आने वाले लोगों के लिए कोविड मुक्त होने के प्रमाणपत्र को अनिवार्य बनाया। मैंने मुख्यमंत्री से कहा कि कई खाड़ी देश बिना लक्षण वालों की कोरोना की जांच नहीं करते। उनका जवाब था कि केंद्र सरकार से दूतावासों के माध्यम से कोरोना की जांच की व्यवस्था कराने को कहा जाए।’’

कांग्रेस नेता ने कहा कि हर भारतीय का अधिकार है कि अस्वस्थ होने की स्थिति में भी अपने देश वापस आ सकता है। उन्होंने विदेश मंत्री से आग्रह किया कि गृह मंत्रालय और संबंधित राज्य सरकारों से समन्वय के साथ इस संदर्भ में राष्ट्रीय नीति और प्रोटोकॉल बनाया जाए।
देश :
facebook twitter