महाराष्ट्र में सरकार गठन पर अंतिम निर्णय लेने के लिए शिवसेना ने उद्धव ठाकरे को किया अधिकृत

शिवसेना के विधायकों ने महाराष्ट्र में सरकार गठन पर “अंतिम निर्णय” लेने का अधिकार गुरुवार को पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे को सौंप दिया। ठाकरे की अध्यक्षता में उनके बांद्रा स्थित आवास “मातोश्री” में हुई पार्टी के सभी विधायकों की बैठक में विधायकों ने दोहराया कि “पदों एवं जिम्मेदारियों की समान साझेदारी” के फार्मूले को लागू किया जाएगा जिसपर लोकसभा चुनावों से पहले सहमति बनी थी। 
पार्टी विधायक शंभुराजे देसाई ने बैठक समाप्त होने के बाद संवाददाताओं को बताया, “शिवसेना विधायकों ने एक प्रस्ताव पारित कर सरकार गठन के संबंध में अंतिम निर्णय लेने के लिए उद्धव ठाकरे को अधिकृत किया।” देसाई ने इस बात से इनकार किया कि शिवसेना विधायकों के पाला बदलने के डर की वजह से उन्हें दक्षिण मुंबई के एक होटल में ठहराया जाएगा। 

महाराष्ट्र में सरकार गठन पर नितिन गडकरी बोले- फडणवीस के नेतृत्व में बननी चाहिए सरकार

शिवसेना अपने उस रुख पर कायम है कि लोकसभा चुनावों से पहले इस साल फरवरी में, यह तय हुआ था कि बीजेपी और पार्टी के बीच पदों एवं जिम्मेदारियों को साझा किया जाएगा। शिवसेना जहां मुख्यमंत्री पद को साझा करने पर जोर दे रही है वहीं बीजेपी ने इससे साफ इनकार कर दिया है। 
बीजेपी और शिवसेना मुख्यमंत्री पद के मुद्दे पर उलझी हुई हैं जिससे 24 अक्टूबर को हुए विधानसभा चुनाव के नतीजों में गठबंधन को 161 सीट मिलने के बावजूद सरकार गठन को लेकर गतिरोध बना हुआ है। 288 सदस्यीय विधानसभा के लिए हुए चुनावों में बीजेपी को 105 सीटें, शिवसेना को 56, राकांपा को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली थीं। 
Tags : Badrinath,चारधाम यात्रा,बद्रीनाथ,हिमपात,Snow,भीषण ठंड,Kedarnath Dham,केदारनाथ धाम,Chardham Yatra,Gruzing cold ,Shiv Sena,Uddhav Thackeray,Maharashtra,elections,Lok Sabha,party,BJP