महाराष्ट्र में बनी सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची शिवसेना

महाराष्ट्र में शनिवार सुबह अप्रत्याशित रूप से भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार गठन के बाद शिवसेना शाम को सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई। पार्टी ने इस मामले में शीर्ष अदालत से आज ही रात सुनवाई करने का अनुरोध किया है। 

आपको बता दे कि इससे पहले महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के बाद एक महीने तक चले सियासी गतिरोध के बाद अचानक नाटकीय घटनाक्रम में शनिवार सुबह को भारतीय जनता पार्टी के श्री देवेन्द, फडनवीस ने मुख्यमंत्री पद और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के श्री अजीत पवार ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली जिसके साथ राज्य में दस दिन से लगा राष्ट्रपति शासन हट गया लेकिन नई सरकार के बहुमत को लेकर संशय बना हुआ है। 

राज्य की राजनीति में शुक्रवार रात तेज गतिविधियों की परिणति सुबह करीब साढ़ सात बजे राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा श्री फडनवीस को मुख्यमंत्री और राकांपा के श्री अजीत पवार को उप मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाये जाने के साथ हुई जिसने राजनीतिक पंडितों को भौंचक्का कर दिया। 

राज्यपाल कोश्यारी ने श्री फडनवीस को सदन में अपना बहुमत सिद्ध करने के लिए 30 नवंबर तक का समय दिया है। लेकिन बहुमत को लेकर सत्ता पक्ष एवं विपक्ष अपने अपने दावे कर रहे हैं जिससे अनिश्चितता की स्थिति बनी हुई है। 

बताया जा रहा है कि श्री अजीत ने अपनी पार्टी के सभी 54 विधायकों के हस्ताक्षर वाली सूची राज्यपाल को सौंपी है। लेकिन दोपहर में पार्टी प्रमुख शरद पवार ने साफ कर दिया कि श्री अजीत का निर्णय पार्टी का फैसला नहीं है बल्कि व्यक्तिगत है। उन्होंने यह भी कहा कि राकांपा के अधिकतर विधायक उनके साथ हैं। 

राकांपा विधायक दल की शाम को हुई बैठक में 40 से अधिक विधायकों के मौजूद होने और श्री शरद पवार के नेतृत्व में निष्ठा प्रकट करने का दावा किया गया जिससे फड़नवीस सरकार के पास बहुमत होने पर संशय गहरा गया।



Tags : Narendra Modi,कांग्रेस,Congress,नरेंद्र मोदी,राहुल गांधी,Rahul Gandhi,punjabkesri ,Supreme Court,Shiv Sena,government,Maharashtra,BJP,party,court