+

लखीमपुर जाने की सिद्धू को नहीं मिली इजाजत, सहारनपुर में रोका गया

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसक झड़प पर राजनीति जोरों पर है। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के बाद आज पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू लखीमपुर जा रहे थे जिनको सहारनपुर में ही रोक लिया गया।
लखीमपुर जाने की सिद्धू को नहीं मिली इजाजत, सहारनपुर में रोका गया
लखीमपुर खीरी में हुई हिंसक झड़प पर राजनीति जोरों पर है।  राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के बाद आज पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू  लखीमपुर जा रहे थे  जिनको सहारनपुर में  ही रोक लिया गया। सिद्धू लखीमपुर में मारे गए किसानों के परिजनों से मुलाकात करने जा रहे थे। उत्तर प्रदेश पुलिस ने उन्हें लखीमपुर जाने की इजाजत नहीं दी है। 
मिली जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश प्रशासन ने सिर्फ 5 नेताओं को यूपी में प्रवेश की इजाजत दी है। लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू काफिले के साथ आगे बढ़ने की मांग पर अड़े हुए हैं। उनकी मांग है कि या तो उनके पूरे काफिले को लखीमपुर जाने की अनुमति दी जाए, या उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाए। 
सिद्धू ने भाजपा को आड़े हाथों लिया  
लखीमपुर हिंसा को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू लगातार भाजपा सरकार पर निशाना साध रहे हैं. इससे पहले उन्होंने बुधवार को उन्होंने प्रियंका गांधी को हिरासत में लेने पर भाजपा पर निशाना साधा था। सिद्धू ने ट्वीट किया था, 54 घंटे हो गए हैं, प्रियंका गांधी को किसी कोर्ट के सामने पेश नहीं किया गया है। 24 घंटे से ज्यादा किसी को अवैध तरीके से हिरासत में रखना मूल अधिकारों का उल्लंघन हैं। भाजपा और उत्तर प्रदेश पुलिस आप भारत के संविधान की भावना का हनन कर रहे हैं।  आप बुनियादी मानवाधिकारों को ठेस पहुंचा रहे हैं।   
यूपी सरकार को दी खुली चुनौती
इससे पहले सिद्धू ने भाजपा सरकार को खुली चुनौती दी थी। उन्होंने लिखा था, अगर बुधवार तक किसानों की बर्बर हत्या में शामिल केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के बेटे को गिरफ्तार नहीं किया गया और उनकी नेता प्रियंका गांधी को नहीं छोड़ा गया, तो पंजाब कांग्रेस लखीमपुर खीरी के लिए मार्च करेगी।
facebook twitter instagram