+

नाबालिगों बच्चियों से यौन शोषण मामले में फरार पत्रकार प्यारे मियां की गिरफ्तारी के लिए SIT का गठन

नाबालिगों बच्चियों से यौन शोषण मामले में फरार पत्रकार प्यारे मियां की गिरफ्तारी के लिए SIT का गठन
मध्य प्रदेश के भोपाल में नाबालिग बच्चियों से यौन शोषण मामले में आरोपी पत्रकार प्यारे मियां पर पुलिस अपना शिकंजा और कसती जा रही है। प्यारे मियां की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने एक एसआईटी का गठन किया है। इसके साथ ही पुलिस ने मियां पर घोषित इनाम को बढ़ाकर 10 हजार से 30 हजार कर दिया है। 
प्यारे मियां की गिरफ्तारी के लिए गठित एसआईटी में भोपाल के 6 थानों के एसएचओ, दो डीएसपी और एक अतिरिक्त एसपी शामिल हैं। इस मामले में पुलिस को मिल रही जानकारी चौंकाने वाली है। 5 नाबालिग लड़कियों की शिकायत पर प्यारे मियां के खिलाफ पॉक्सो एक्ट तथा अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।
मियां के अड्डे पर छापेमारी के दौरान पुलिस को मिली अश्लील सामग्री
मंगलवार को प्यारे मियां के श्यामला हिल्स थाना क्षेत्र में स्थित आलीशान फ्लैट पर पुलिस द्वारा छापेमारी की गई। इस दौरान कीमती शराब की बोतलें, दस्तावेज, अश्लील सामग्री और अन्य सामान मिला है। प्यारे मियां से संबंधित मामले की जांच के लिए एक विशेष कार्य बल (एसआईटी) बना दिया गया है। 
रविवार की रात रातीबड़ थाने में पांच नाबालिग लड़कियों की शिकायत पर प्यारे मियां के खिलाफ पॉक्सो एक्ट तथा अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था। इस मामले में एक अन्य व्यक्ति और एक युवती को भी आरोपी बनाया गया है। इस घटना के बाद से ही प्यारे मियां गायब हो गया है। पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी पर दस हजार रुपए इनाम घोषित किया था, जिसे बढ़ाकर 30 हजार रुपए कर दिया गया।
प्यारे मियां की गिरफ्तारी के संबंध में सोमवार को एक टीम सीहोर जिले के आष्टा पहुंची थी और वहां से दो तीन युवकों को हिरासत में लेने के साथ ही एक कार कब्जे में ली गई है। यह कार आरोपी प्यारे मियां की बतायी गई है। पुलिस और प्रशासन मिलकर प्यारे मियां की अवैध तरीके से बनाई गई संपत्तियों का पता लगाकर उसके खिलाफ भी कार्रवाई कर रही है। इसी क्रम में सोमवार को पुराने शहर में बनाया गया शादी हॉल गिरा दिया गया। इसके पास स्थित एक अन्य भवन को भी तोड़ गया।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने  कानून व्यवस्था की समीक्षा के दौरान नाबालिग लड़कियों के साथ ज्यादती की घटना पर नाराजगी जताते हुए सख्त कार्रवाई के लिए कहा था। इसके बाद प्यारे मियां की राज्य स्तरीय अधिमान्यता तत्काल समाप्त कर दी गयी और उसके नाम पर दर्ज सरकारी आवास भी रिक्त कराने के आदेश हो गए। प्यारे मियां एक समाचारपत्र का प्रधान संपादक है। अब उसके सभी काले कारनामे खोले जा रहे हैं।
दो दिन पहले रात्रि में यहां रातीबड़ थाना क्षेत्र में पुलिस को गश्त के दौरान चार पांच नाबालिग लड़कियां मिली थीं। पूछताछ में लड़कियों ने बताया कि उन्हें कुछ लोग यहां एक मकान पर जन्मदिन की पार्टी में लाए थे। इस दौरान उनके साथ अश्लील हरकतें, दुष्कर्म का प्रयास और दुष्कर्म किया गया। कथित तौर पर इन नाबालिग लड़कियों को शराब भी पिलाई गई और बाद में उन्हें वहां से रवाना कर दिया गया। ये लड़कियां काफी सहमी हुयी थीं और विशेषज्ञों से उनकी काउंसिंलिंग भी कराई गई।
पुलिस इन लड़कियों से पूछताछ के बाद रातीबड़ थाने में प्यारे मियां (68) और उसकी कथित सहयोगी 22 वर्षीय युवती के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था। बताया गया है कि इस मकान में किसी व्यक्ति के जन्मदिन की पार्टी मनाई जा रही थी और तथाकथित बड़े लोग भी इसमें शामिल हुए थे। अब प्यारे मियां और उसके सहयोगी पुलिस के निशाने पर आ गए हैं।
facebook twitter