+

महाराष्ट्र में अब तक कोरोना ‘डेल्टा प्लस’ के अब तक 21 मामलों की पुष्टि हुई : राजेश टोपे

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कल यानि सोमवार को कहा कि कोरोना संक्रामक स्वरूप ‘डेल्टा प्लस’ के अभी तक 21 मामलों कि पुष्टि हो चुकी है।
महाराष्ट्र में अब तक कोरोना ‘डेल्टा प्लस’ के अब तक 21 मामलों की पुष्टि हुई : राजेश टोपे
महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कल यानि सोमवार को कहा कि कोरोना संक्रामक स्वरूप ‘डेल्टा प्लस’ के अभी तक 21 मामलों कि पुष्टि हो चुकी है। उन्होंने कहा कि इस स्वरूप के सबसे अधिक नौ मामले रत्नागिरी से है और जलगांव में सात मामले, मुंबई में दो और पालघर, ठाणे तथा सिंधुदुर्ग जिले में एक-एक मामला सामने आया है।उन्होंने बताया कि राज्य के विभिन्न हिस्सों से 7,500 नमूने लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। ये नमूने 15 मई तक एकत्रित किए गए थे और इनका जीनोम अनुक्रमण किया जा चुका है। जीनोम अनुक्रमण से सार्स-सीओवी2 में छोटे से छोटे उत्परिवर्तन (वायरस के स्वरूप बदलने का) का भी पता चल जाता है।
टोपे ने बताया कि जो लोग ‘डेल्टा प्लस’ से संक्रमित पाए गए हैं, उन्होंने हाल ही में यात्रा की थी या नहीं, कोविड-19 रोधी टीका लगवाया था या नहीं और क्या वे दोबारा संक्रमित हुए...उनसे जुड़ी अन्य जानकारी एकत्रित की जा रही है। उनके सम्पर्क में आए लोगों की भी पहचान की जा रही है।
महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने पिछले सप्ताह एक प्रस्तुतिकरण (प्रेसेंटेशन) दिया था जिसमें कहा था कि संक्रमण का नया स्वरूप ‘डेल्टा प्लस’ राज्य में कोविड-19 की तीसरी लहर का कारण बन सकता है।मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, राज्य कोविड-19 कार्य बल के सदस्य और स्वास्थ्य विभाग के सदस्य भी इस बैठक में शामिल हुए थे।
यह नया स्वरूप ‘डेल्टा प्लस’ भारत में सबसे पहले सामने आए ‘डेल्टा’ या ‘B.1.617.2’ स्वरूप में ‘उत्परिवर्तन’ से बना है। भारत में संक्रमण की दूसरी लहर आने की एक वजह ‘डेल्टा’ भी था।राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, सोमवार को महाराष्ट्र में कोविड-19 के 6,270 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 59,79,051 हो गई। वहीं, 94 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,18,313 हो गई है।

facebook twitter instagram