+

सोनू सूद को मिला प्रियंका चोपड़ा का सपोर्ट, एक्ट्रेस ने की कोविड से अनाथ हुए बच्चो की मुफ़्त शिक्षा की मांग

सोनू सूद ने कोविड-19 महामारी से अनाथ हुए बच्चों की पढाई के लिए कदम उठाने की पहल की है, जिसमें उन्हें प्रियंका चोपड़ा का साथ मिला है। प्रियंका ने सोनू के विज़न को सपोर्ट करते हुए राज्य और केंद्र सरकारों से इस पर गौर करने की अपील की। प्रियंका ने ट्विटर पर सोनू के एक वीडियो को शेयर किया। प्रियंका ने सोनू के इस वीडियो को एक नोट के साथ शेयर किया।
सोनू सूद को मिला प्रियंका चोपड़ा का सपोर्ट, एक्ट्रेस ने की कोविड से अनाथ हुए बच्चो की मुफ़्त शिक्षा की मांग
बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद पिछले साल से अब तक लगातार जरूरतमंद लोगो की मदद करने में लगे हुए है। इंसानियत किसे कहते है और इंसान के रूप में भगवान क्या होता है, ये सोनू सूद को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है। सोनू सूद को यू ही मसीहा नहीं कहा जाता, एक्टर इन दिनों अपने अच्छे कामो के चलते खूब सुर्खियों में है। पहले प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने से लेकर मौजूदा परिस्थितियों में लोगों को दवाइयां और ऑक्सीजन दिलवाने की कोशिशों तक, सोनू ने अपनी दरियादिली से एक मिसाल कायम की है। 


अब उन्होंने कोविड-19 महामारी से अनाथ हुए बच्चों की पढाई के लिए कदम उठाने की पहल की है, जिसमें उन्हें प्रियंका चोपड़ा का साथ मिला है। प्रियंका ने सोनू के विज़न को सपोर्ट करते हुए राज्य और केंद्र सरकारों से इस पर गौर करने की अपील की। प्रियंका ने ट्विटर पर सोनू के एक वीडियो को शेयर किया, जिसमें उन्होंने कहा कि राज्य और केंद्र सरकारों को ऐसा कोई नियम बनाना चाहिए, जिसके तहत उन बच्चों की स्कूल से कॉलेज तक की शिक्षा मुफ़्त की जा सके, जिन्होंने कोविड-19 की वजह से अपने माता-पिता को खो दिया है। 


अब प्रियंका ने सोनू के इस वीडियो को एक नोट के साथ शेयर किया, जिसमें उन्होंने अपने साथी कलाकार के इस विज़न को लेकर अपनी बात रखी। इस नोट में प्रियंका ने लिखा- "आपने कभी विज़नरी समाज सेवक के बारे में सुना है? मेरे साथी सोनू सूद वही हैं। वो आगे की सोचते हैं और उसे प्लान करते हैं। इस बारे में सावधानीपूर्वक सोचिए, क्योंकि इसका प्रभाव लम्बे समय तक रहने वाला है और इसमें बच्चे शामिल हैं। कोविड-19 की कई डरावनी कहानियों में यह उन बच्चों के बारे में हैं, जिन्होंने अपने एक या दोनों माता-पिता खो दिये हैं। इस वजह से उनकी शिक्षा पूरी तरह से बंद हो सकती है।"

प्रियंका ने आगे लिखा- "मैं सोनू के इस क्रिटिकल ऑब्जरवेशन से इंस्पायर्ड हूँ। सोनू खास अपने स्टाइल में इस समस्या के समाधान के साथ आये हैं, जिन पर अमल किया जाना चाहिए। सोनू के मशविरे के मुताबिक़, राज्य और केंद्र, दोनों सरकारों को ऐसे बच्चों के लिए फ्री एजुकेशन करनी चाहिए। वो शिक्षा के जिस भी पड़ाव पर हों, वहां से उच्च शिक्षा और प्रोफेशनल एजुकेशन तक आर्थिक कारणों से यह रुकना नहीं चाहिए।" प्रियंका ने अपने नोट में सक्षम लोगों से ऐसे बच्चों की शिक्षा का ज़िम्मा उठाने की भी गुज़ारिश की। साथ ही प्रियंका ने सोनू की सलाह से इत्तेफ़ाक़ रखते हुए खुद इस ओर काम करने की बात कही है। 
facebook twitter instagram