विस का विशेष सत्र : CM अमरिंदर का प्रकृति के संरक्षण का आह्वान

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 550वीं जयंती के उपलक्ष्य में राज्य विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान बुधवार को प्रकृति की रक्षा की जरूरत पर बल दिया ताकि भविष्य की पीढ़ियां पर्यावरण प्रदूषण से प्रभावित नहीं हों। 

उन्होंने गुरु के इस विचार को याद किया कि वायु गुरु, पानी पिता और धरती माता है। उन्होंने प्रकृति और मानवता के बीच स्वाभाविक बंधन को रेखांकित किया। सिंह ने कहा कि इस विचारधारा का अक्षरश: संरक्षण किये जाने की जरुरत है ताकि भविष्य की पीढ़ियां पर्यावरण प्रदूषण से प्रभावित नहीं हों जो कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सहित पूरे उत्तर क्षेत्र में वर्तमान में जारी वायु प्रदूषण की वर्तमान स्थिति से दिख रहा है। 

उन्होंने सभी से अपील की कि वे गुरु के दर्शन के अनुरूप पंजाब को स्वच्छ, हरित और प्रदूषण मुक्त बनायें। उन्होंने इसके लिए कम पानी इस्तेमाल होने वाली फसलें लगाने, पराली जलाने पर रोक लगाने और केमिकल उर्वरक के इस्तेमाल पर लगाम लगाने की जरूरत पर बल दिया। 

इसी तरह के विचार उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायूड द्वारा व्यक्त किये गए जो कि इस ऐतिहासिक सत्र में विशेष अतिथि थे। इस सत्र में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह बदनोर, हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने भी हिस्सा लिया। 

पंजाब के मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में सभी का आह्वान किया कि वे समतावादी समाज बनायें तथा सामाजिक और आर्थिक असमता दूर करें। 

उन्होंने कहा कि वर्तमान पीढ़ी धन्य है कि उसे सिख गुरु की 550 जयंती मनाने का मौका मिल रहा है। उन्होंने सहिष्णुता और सौहार्द की जरुरत पर बल देने के लिए ‘ईश्वर एक है’ के गुरु के दर्शन का विशेष उल्लेख किया। उन्होंने उम्मीद जतायी कि पंजाब विधानसभा के विशेष सत्र में हिस्सा लेने वाले पंजाब एवं हरियाणा के विधायकों के बीच जो मैत्रीय रुख देखने को मिला है उससे भविष्य में भी दोनों राज्यों के बीच संबंध मजबूत होते रहेंगे। इससे क्षेत्र का समग्र विकास होगा और समृद्धि आएगी। 

मुख्यमंत्री ने उप राष्ट्रपति, पूर्व प्रधानमंत्री, हरियाणा के मुख्यमंत्री और दोनों राज्यों के राज्यपालों का सम्मान करते हुए उन्हें सोने और चांदी के स्मारक सिक्के, स्मृति चिह्न और पुस्तकों के सेट भेंट किए। 
Tags : Punjab Kesari,DRDO,Supersonic cruise missile,BrahMos Advanced,HyperSonic capability,ब्रह्मोस उन्नत ,session,Vis,Satyadev Narayan Arya,CM Amarinder,Dushyant Chautala,Haryana,Manohar Lal Khattar