+

NDA में बढ़ी हलचल.. तो बिहार में शुरू हुआ अटकलों का दौर, लालू से हुई बात पर साहनी बोले- पर्दे के पीछे रहने दो

वीआईपी के प्रमुख मुकेश साहनी ने सरकार की टेंशन को बढ़ा दिया है। साहनी ने बिना नाम लिए बीजेपी नेताओं को अनावश्यक बयानबाजी की बजाय जनता से किए 19 लाख के रोजगार पर काम करने की सलाह दी है।
NDA में बढ़ी हलचल.. तो बिहार में शुरू हुआ अटकलों का दौर, लालू से हुई बात पर साहनी बोले- पर्दे के पीछे रहने दो
बिहार में चल रही एनडीए सरकार में लगातार हलचल हो रही है, वहीं एनडीए की सहयोगी पार्टियां अपने रुख से इन अटकलों को हवा दे रही हैं। हाल ही में जीतन राम मांझी ने बांका की घटना पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को बिना नाम लिए नसीहत दी जिस पर भाजपा ने भी पलटवार का मौका नहीं छोड़ा। इसी कड़ी में अब विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के प्रमुख मुकेश साहनी ने सरकार की टेंशन को और ज्यादा बढ़ा दिया है। साहनी ने बिना नाम लिए बीजेपी नेताओं को अनावश्यक बयानबाजी की बजाय जनता से किए 19 लाख के रोजगार पर काम करने की सलाह दी है। 
उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'एनडीए गठबंधन के साथीगणों से अनुरोध है कि अनावश्यक बयानबाजी से बचें एवं हम सब मिलकर बिहार की जनता से किए गए 19 लाख रोजगार के वादे पर काम करें।' इसके अलावा खबर है कि साहनी ने शुक्रवार को आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव से फोन पर बात की है। जब उनसे इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इसे पर्दे में ही रहने दीजिए। बांका की घटना पर उन्होंने कहा कि यह जांच का विषय है। जांच एजेंसी पहले घटना की जांच कर ले फिर हमें उस पर प्रतिक्रिया देनी चाहिए। 
उन्होंने कहा कि बहुत से नेता अलग-अलग मुद्दों पर बयान दे रहे हैं जो सही नहीं है। साहनी ने कहा कि हमने जनता से 19 लाख लोगों को रोजगार देने का वादा किया है हमें उस पर ध्यान देना चाहिए। अगर किसी को वादे याद नहीं है तो उन्हें याद दिलाना कोई बड़ी बात नहीं है। लालू से हुई बातचीत के बारे में पूछे गए सावल पर उन्होंने इसे पर्दे के पीछे रहने दीजिए कहकर टाल दिया। वहीं दूसरी तरफ साहनी ने सीएम नीतीश कुमार को एक पत्र भी लिखा है जिसमें जनप्रतिनिधियों को पूर्व की भांति ऐच्छिक कोष की धनराशि खर्च करने की शक्ति प्रदान किए जाने की अपील की है। 
facebook twitter instagram