+

महागठबंधन में फूट : कांग्रेस बोली - मिले सम्मानजनक सीट नहीं तो 243 सीटों पर लड़ेंगे

बिहार विधानसभा चुनाव से पूर्व महागठबंधन के घटक दलों के बीच सीट बंटवारे का पेंच इस कदर उलझता जा रहा है कि राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रोलोसपा) के बाद आज कांग्रेस ने भी धमकी दे दी कि यदि सम्मानजनक सीटें नहीं मिली तो पार्टी सभी 243 विधानसभा क्षेत्र में अपने उम्मीदवार उतारेगी।
महागठबंधन में फूट : कांग्रेस बोली - मिले सम्मानजनक सीट नहीं तो 243 सीटों पर लड़ेंगे
बिहार विधानसभा चुनाव से पूर्व महागठबंधन के घटक दलों के बीच सीट बंटवारे का पेंच इस कदर उलझता जा रहा है कि राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रोलोसपा) के बाद आज कांग्रेस ने भी धमकी दे दी कि यदि सम्मानजनक सीटें नहीं मिली तो पार्टी सभी 243 विधानसभा क्षेत्र में अपने उम्मीदवार उतारेगी। 
कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडेय ने शनिवार को यहां कहा कि यदि राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के साथ सीटों के तालमेल को लेकर सम्मानजनक समझौता हुआ तब तो हम उसके साथ चुनाव लड़गे, नहीं तो कांग्रेस बिहार की सभी 243 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है। 
सूत्रों की माने तो कांग्रेस इस बार के विधानसभा चुनाव में 70 सीटों का दावा कर रही है वहीं राजद 150 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ करने को तैयार है। यदि राजद के खाते में 150 सीटें जाती हैं तो शेष 83 सीटें महागठबंधन के अन्य घटक दलों की झोली में जाएगी। ऐसे में कांग्रेस को अपना दावा कमजोर पड़ता दिखाई दे रहा है। इसी को लेकर कांग्रेस ने अब अपने तेवर कड़ कर लिए हैं। 
वहीं, महागठबंधन में ज्यादा महत्व नहीं मिलने से नाराज रालोसपा की गुरुवार को हुई आपात बैठक में राजद के रवैये पर खुलकर नाराजगी जताई गई और पार्टी के प्रमुख उपेंद, कुशवाहा को आगे का कोई भी निर्णय लेने के लिए अधिकृत कर दिया गया। 
रालोसपा सूत्रों के अनुसार, पार्टी ने विधानसभा चुनाव के लिए 35 सीटों की मांग की थी और इसके लिए श्री कुशवाहा ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव से दो बार और राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह से भी उनके कार्यालय में मुलाकात की थी। बताया जाता है कि राजद रालोसपा को 10-12 सीट से अधिक देने को तैयार नहीं है।
facebook twitter