+

महोबा में ग्राम प्रधान की हत्या के मामले में लापरवाही बरतने पर थानाध्यक्ष पर गिरी गाज

महोबा में दिन दहाड़े ग्राम प्रधान की हत्या के मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में पुलिस अधीक्षक ने अजहर थाने के थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया है।
महोबा में ग्राम प्रधान की हत्या के मामले में लापरवाही बरतने पर थानाध्यक्ष पर गिरी गाज
उत्तर प्रदेश में आपराधिक मामलों में पुलिस की लापरवाही अक्सर सामने आती है। महोबा में दिन दहाड़े ग्राम प्रधान की हत्या के मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में पुलिस अधीक्षक ने अजहर थाने के थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया है। यह पहली बार नहीं है जब राज्य पुलिस अपनी कार्यप्रणाली को लेकर विवादों में आई हो।
कुलपहाड़ के पुलिस उपाधीक्षक (सीओ) रामप्रवेश राय ने मंगलवार को बताया, "अकौना गांव के ग्राम प्रधान राजू कुशवाहा (46) की रविवार को दिनदहाड़े हत्या हो जाने के मामले में प्रथम दृष्टया लापरवाही बरतने पर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार श्रीवास्तव ने सोमवार को अजहर थाने के थानाध्यक्ष विनोद कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर पुलिस लाइन से संबद्ध कर दिया है।" 
उन्होंने बताया, "हत्या से 15 दिन पूर्व ग्राम प्रधान राजू को हत्या किए जाने की धमकी दी गयी थी, लेकिन थानाध्यक्ष ने असंज्ञेय मामला (एनसीआर) दर्जकर कार्रवाई नहीं की थी।" गौरतलब है कि रविवार को अकौना गांव में चकबंदी प्रक्रिया के लिए कलई डलवाते समय चुनावी रंजिश में लाठियों से पीटने के बाद ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इस सिलसिले में पूर्व ग्राम प्रधान सुखराज राजपूत सहित आठ लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। फिलहाल सभी आरोपी फरार हैं। 
facebook twitter instagram