+

सुनील गावस्कर ने ICC को सुझाया नया फॉर्मूला, भारत-न्यूजीलैंड के बीच WTC Final को लेकर कही ये बात

इन दिनों भारत और न्यूजीलैंड के बीच साउथम्पटन के एजेस बाउल में आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का निर्णायक मुकाबला खेला जा रहा है।
सुनील गावस्कर ने ICC को सुझाया नया फॉर्मूला, भारत-न्यूजीलैंड के बीच WTC Final को लेकर कही ये बात
इन दिनों भारत और न्यूजीलैंड के बीच साउथम्पटन के एजेस बाउल में आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का निर्णायक मुकाबला खेला जा रहा है। लेकिन इस खिताबी मुकाबले के बीच बारिश का कहर लगातार जारी है। इस मैच के पहले दिन का खेल बारिश की भेंट चढ़ गया था। जबकि दूसरे और तीसरे दिन कुल मिलाकर 141.1 ओवर का ही खेल हो पाया है। वहीं, इस ऐतिहासिक मैच के चौथे दिन का खेल भी बारिश में धूल गया और मैच के दौरान खराब रौशनी की वजह से खेल के बीच में बाधा डालती रही है।


अब मैच का 70 फीसदी से ज्यादा हिस्सा बारिश की वजह से खराब होने के बाद नतीजा ड्रॉ की तरफ ही इशारे कर रहा है। दरअसल इस मैच के लिए रिसर्व-डे भी रखा गया है। आईसीसी के नियम के मुताबिक यदि यह टेस्ट ड्रॉ रहता है तो दोनों टीम्स को संयुक्त रूप से विजेता घोषित किया जाएगा। मैच की इस स्थिति पर भारत के पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने कहा है कि आईसीसी को इस बात को निर्धारित करना चाहिए कि डब्ल्यूटीसी का खिताब किसी एक टीम को ही मिले।


भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने कहा, भारत और न्यूजीलैंड के बीच यहां जारी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला अगर ड्रॉ पर समाप्त होता है तो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को विजेता चुनने के लिए कोई फॉर्मूला बनाना चाहिए।


दोनों टीमों के बीच फाइनल मुकाबले का पहला और चौथा टेस्ट बारिश की भेंट चढ़ा था और बिना एक भी गेंद डाले मुकाबला खत्म करना पड़ा। भारत ने पहली पारी में 217 रन बनाए जिसके जवाब में न्यूजीलैंड ने अबतक दो विकेट पर 101 रन बनाए हैं।


आईसीसी पहले ही इस बात की घोषणा कर चुका है कि मुकाबला ड्रॉ या रद्द रहने पर ट्रॉफी दोनों टीमों के बीच शेयर की जाएगी। गावस्कर ने एक न्यूज चैनल से कहा, डब्ल्यूटीसी फाइनल मुकाबला ड्रॉ रहन पर विजेता चुनने के लिए फॉर्मुला बनाया जाना चाहिए। आईसीसी क्रिकेट समिति को इस बारे में विचार कर निर्णय लेना चाहिए।



उन्होंने कहा, ऐसा लग रहा है कि फाइनल मुकाबला ड्रॉ पर खत्म होगा और ट्रॉफी शेयर की जाएगी। ऐसा पहली बार होगा जब फाइनल में ट्रॉफी को शेयर किया जाएगा। दो दिन में तीन पारियों का होना मुश्किल है। हां, अगर दोनों टीमें बल्लेबाजी में बेहद खराब प्रदर्शन करती है तो तीन पारियां हो सकती हैं। 
facebook twitter instagram