सुप्रीम कोर्ट ने चुनावी बॉड योजना पर केन्द्र और चुनाव आयोग से मांगा जवाब

उच्चतम न्यायालय ने राजनीतिक दलों को धन मुहैया कराने के वास्ते शुरू हुई चुनावी बांड योजना पर रोक लगाने की मांग करने वाली याचिका पर केन्द्र और चुनाव आयोग से सोमवार को जवाब देने को कहा। न्यायालय ने हालांकि चुनावी बॉड योजना पर अंतरिम रोक लगाने से इनकार कर दिया। 

प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति बी आर गवई और न्यायमूर्ति सूर्यकांत की पीठ ने केन्द्र और चुनाव आयोग से एनजीओ ‘एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स’ द्वारा दायर अंतरिम आवेदन के दो सप्ताह के भीतर जवाब देने को कहा है। एनजीओ की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने आरोप लगाया कि इस योजना का मकसद बेहिसाबी काले धन को सत्तारूढ़ दल तक पहुंचाना है। 

भाजपा के 11वें अध्यक्ष पद के लिए जेपी नड्डा ने दाखिल किया नामांकन


भूषण ने योजना पर रोक की मांग के दौरान आरबीआई के एक दस्तावेज का भी जिक्र किया। इस पर पीठ ने कहा,‘‘हम उसे देखेंगे। हम इसे दो सप्ताह बाद के लिए सूचीबद्ध कर रहे हैं।’’ चुनाव आयोग की ओर से पेश वरिष्ठ वकील राकेश द्विवेदी ने कहा कि ये सारी बहस पहले भी हो चुकी है। उन्होंने इस योजना को लेकर दायर याचिका पर जवाब देने के लिए चार सप्ताह का वक्त मांगा हैं। 

Tags : Narendra Modi,कांग्रेस,Congress,नरेंद्र मोदी,राहुल गांधी,Rahul Gandhi,punjabkesri ,Supreme Court,Center,Election Commission,Center and Election Commission,parties