सुशील कुमार मोदी ने कहा-राजद सरकार में बिहार की दुर्दशा को जनता भूल नहीं सकती

बिहार के उप मुख्यमंत्री एवं बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने आज कहा कि राज्य में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सरकार के पंद्रह साल के कार्यकाल में इस प्रदेश की हुई दुर्दशा को जनता कभी नहीं भूल सकती है। सुशील कुमार मोदी ने यहां नाथनगर एवं बेलहर विधानसभा क्षेत्रों का चुनावी दौरा करने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि बिहार में राजद सरकार के पंद्रह साल के कार्यकाल में इस प्रदेश की हुई दुर्दशा को जनता कभी नहीं भूल सकती है। 

उन्होंने कहा कि वैसे भी राजद नीत महागठबंधन बिखरा पड़ा है। उप चुनाव में न इनके नेता का संयुक्त दौरा है और वे न ही एक-दूसरे के लिए वोट मांग रहे है बल्कि एक-दूसरे के खिलाफ प्रत्याशी खड़े किये हुए है। वहीं, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) एकजुट है और पूरी ताकत से लड़ रहा है। 

केशवानंद मामले के बाद अयोध्‍या विवाद सुप्रीम कोर्ट के इतिहास की दूसरी लंबी सुनवाई

बीजेपी नेता ने कहा कि बिहार में विधानसभा की पांच और लोकसभा की एक सीट के लिए हो रहे उप चुनाव के साथ ही हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में राजग बड़ी जीत दर्ज करेगा। उन्होंने कहा कि बिहार से बीजेपी के कार्यकर्ता इन राज्यों में जाकर राजग के पक्ष में माहौल बना रहे है। 

सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार की मौजूदा राजग सरकार काम करने वाली सरकार है। वह झूठे वादे नहीं करती है। नाथनगर के चंपनाला पुल, सुलतानगंज में गंगा नदी पर अगवानी घाट पुल, भागलपुर में बाईपास सड़क, भागलपुर के विक्रमशिला पुल के सामांतर पुल के साथ हंसडीहा तक प्रधानमंत्री पैकेज के तहत चार लेन सड़क, ट्रिपल आईटी, जलापूर्ति योजना आदि कार्य आम जनता के सामने है और सभी केंद्र और राज्य सरकार की देन है। 

बीजेपी नेता ने कहा कि बिहार बाढ़ और सुखाड़ की विभीषिका प्रभावित राज्य है। पंद्रह त्रिलों में बाढ़ फिर से आ गई। केंद्र ने 613 करोड़ रुपये की पहली किस्त दी है लेकिन बिहार सरकार ने 25 लाख पीड़ित परिवारों के बैंक खाते में छह-छह हजार रुपये की दर से 1500 करोड़ रुपये दिए है। साथ ही सूखा प्रभावित परिवारों को तीन हजार रुपए के हिसाब से 900 करोड़ रुपए दिए गये है। इस सहायता राशि का चुनाव से कोई लेना देना नहीं है। सूबे के खजाने पर पहला हक बाढ़ पीड़ितों का है।

प्रकाश जावड़ेकर ने PM मोदी की रैली के लिए पेड़ों की कटाई का किया बचाव 

केंद्रीय जांच दल इस प्राकृतिक आपदा के नुकसान का जायजा लेकर गई है। फसलों और घरों के उजड़ जाने के नुकसान की भरपाई की जाएगी। सुशील कुमार मोदी ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे पर पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल पीएमसीएच) में निरीक्षण के दौरान स्याही फेंकने की घटना हिंसक प्रवृति का रूप है और ऐसे लोगों को प्रोत्साहित करना गलत है। इसकी भर्त्सना की जानी चाहिए। 

उन्होंने कहा कि डेंगू और चिकुनगुनिया का इलाज का पूरा प्रबंध है। बीते साल के मुकाबले इस साल इन बीमारियों के मरीज कम है फिर भी मरीज की संख्या बढ़ती जा रही है लेकिन इससे आतंकित होने की जरूरत नहीं है। मरीजों का समुचित इलाज हो रहा है। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार स्वयं निगरानी कर रहे है। बीजेपी नेता ने एक सवाल के जवाब में कहा कि बाढ़ पीड़ितों के लिए बने राहत शिविर अस्थाई है। 

इस बार इन शिविरों की एक खास बात यह रही कि 12 नवजात बच्चों का जन्म इनमें हुआ। जिनमें पांच लड़के और सात लड़कियों का शामिल हैं। प्रसव का इंतजाम भी किया गया। जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ है। इस मौके पर विधान पार्षद डॉ। एन। के। यादव, जिला परिषद अध्यक्ष टुनटुन साह, बीजेपी जिलाध्यक्ष रोहित पांडे भी उपस्थित थे।
Tags : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,Prime Minister Narendra Modi,Punjab Kesari,बिप्लब कुमार देब,Bipel Kumar Deb,त्रिपुरा मुख्यमंत्री,Chief Minister of Tripura ,government,Sushil Kumar Modi,public,Bihar,RJD,NDA