कोच गांगुली पर 15 साल की बच्ची के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगा, खेलमंत्री रिजीजू ने कड़ी कार्रवाई का दिया आश्वासन

एक नाबालिग लड़की के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप में गोवा के तैराकी कोच को बर्खास्त कर दिया है। सोशल मीडिया पर कोच का एक कथित वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो के वायरल होने के बाद देश के खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने भी सख्स कदम उठा लिए हैं साथ ही कड़ी सजा देनेे का भी जनता से वादा किया है। 


गांगुली देते थे लड़की को ट्रेनिंग

तैराकी कोच सुरजीत गांगुली गोवा तैराकी संघ के साथ काम करते थे। उनके ऊपर एक 15 साल की लड़की के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगा है। 15 साल की यह लड़की गांगुली से ही ट्रेनिंग ले रही थी। खेल मंत्री किरण रिजिजू ने कोच के ऊपर लड़की के आरोप लगाने के बाद लगातार कई ट्वीट्स किए हैं और गांगुली के खिलाफ सख्स कार्रवाई करने के आदेश भी दिए हैं। 

ट्वीट करते हुए रिजिजू ने कहा कि, मैंने घटना के बारे में मजबूत विचार रखा है। गोवा तैराकी संघ ने कोच सुरजीत गांगुली के अनुबंध को समाप्त कर दिया है। मैं तैराकी संघ भारत से यह सुनिश्चित करने के लिए कह रहा हूं  इस कोच को भारत में कहीं भी नौकरी पर न रखा जाए। 

कड़ी कार्रवाई के आदेश रिजिजू ने दिए

कोच के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आश्वासन खेल मंत्री रिजिजू ने दिया है। ट्वीट करते हुए रिजिजू ने लिखा, खेल प्राधिकरण के माध्यम से एक कठोर कार्रवाई की जाएगी। सबसे पहले, यह गंभीर प्रकृति का जघन्य अपराध है इसलिए मैं पुलिस से तत्काल कोच के खिलाफ कठोर दंडात्मक कार्रवाई करने का आग्रह करुंगा। गांगुली के अनुबंध पर गोवा स्वीमिंग एसोसिएशन ने पुष्टि करते हुए कहा है कि हमें खत्म कर दिया है। 

नौकरी मिली थी अच्छे ट्रैक रिकॉर्ड से 

इस मामले पर जीएसए के सचिव सैयद अब्दुल मजीद ने कहा है कि हमने वीडियो देखने के तुरंत बाद सुरजीत का अनुबंध समाप्त कर दिया था। लड़की और कोच दोनों ही बंगाल के रहने वाले हैं। जीएसए ने करीब ढाई साल पहले गांगुली को मापुसा सुविधा के लिए नौकरी पर रखा था। 


आगे बात करते हुए उन्होंने कहा, हमने उन्हें नियुुक्त किया था क्योंकि कोच के रूप में उनका अच्छा ट्रैक रिकॉर्ड था। उनके खिलाफ कोई पहले शिकायत नहीं थी। साल 2017 में, गोवा विधानसभा ने अन्य खिलाड़ियों के साथ-साथ तैराकी और डाइविंग खेलों और राज्य में गर्व और गौरव लाने के लिए उन्हें बधाई देने के लिए प्रस्ताव पारित किया था। 

जांच कर रही है गोवा पुलिस 

इस मामले में पश्चिम बंगाल की पुलिस ने बात करते हुए कहा है कि लड़की ने शिकायत दर्ज की है और गोवा में अब उनके समकक्षों द्वारा यह केस संभाला जाएगा। 


इस मामले में कोलकाता पुलिस के एक अधिकारी ने बताया है कि, लड़की द्वारा दिए गए बयान के आधार पर, हमने कल एक औपचारिक शिकायत दर्ज की है। लेकिन चूंकि मामला गोवा पुलिस के अधिकार क्षेत्र में आता है, इसलिए इसे स्‍थानांतरित कर दिया गया है। गौवा पुलिस इसकी जांच कर रही है। 
Tags : पटना,Patna,law,Ravi Shankar Prasad,Union Minister,Dalit,Punjab Kesari ,Ganguly,Rijiju