+

खत्म हुआ ताज के दीदार का इंतजार, प्रवेश के लिए टूरिस्ट्स को इन नियमों का करना होगा पालन

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने आगरा स्थित ताजमहल को 17 मार्च से बंद कर दिया था।
खत्म हुआ ताज के दीदार का इंतजार, प्रवेश के लिए टूरिस्ट्स को इन नियमों का करना होगा पालन
दुनिया के सातवें अजूबों में से एक ताजमहल सोमवार से टूरिस्ट्स के लिए खोल दिया गया है। 188 दिनों से बंद पड़े 17वीं शताब्दी के प्रेम का प्रतीक कहे जाने वाले ताज का लोग अब दीदार कर पाएंगे। ताजमहल में प्रवेश पाने के लिए टूरिस्ट्स को कोरोना से जुड़े नियमों का पालन करना होगा।
कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने आगरा स्थित ताजमहल को 17 मार्च से बंद कर दिया था। लेकिन अब 21 सितंबर को ताजमहल टूरिस्ट्स के लिए खोल दिया गया है। भ्रमण के दौरान किसी को कोरोना संक्रमण न हो उसके लिए कई इंतजाम किए गए हैं।
ताजमहल के केयरटेकर अमरनाथ गुप्ता ने कहा, "पूर्वी और पश्चिमी गेट पर सैनिटाइजेशन, थर्मल स्क्रीनिंग, सोशल डिस्टेंसिंग के इंतजाम हो चुके हैं। ताजमहल में दो शिफ्ट में टूरिस्ट्स को जाने की अनुमति दी जाएगी। एक शिफ्ट में सिर्फ 2,500 आगंतुकों को ही अंदर जाने की अनुमति होगी और यह केवल ऑनलाइन बुकिंग के जरिए ही संभव होगा। 
लोगों की भीड़ न लगे इसलिए टिकट ​विंडो बंद रखा गया है। क्यूआर कोड स्कैन करके भी टिकट लिया जा सकता है।विदेशियों को प्रवेश टिकट के लिए 1,100 रुपये भुगतान करना होगा और देश के आगंतुक 50 रुपये प्रति टिकट का भुगतान करेंगे। सम्राट शाहजहां और मुमताज महल की कब्रों के दृश्य  के लिए मुख्य मंच में प्रवेश करने के लिए 200 रुपये का टिकट अतिरिक्त है।" 

facebook twitter