104 वर्षीय बुजुर्ग पति की मौत के बाद 100 साल की पत्नी ने भी दुनिया को कहा अलविदा

अक्सर ऐसा कहा जाता है जोडिय़ा ऊपर वाला बनाता है और समय आने पर साथ भी कभी-कभी वापस बुला लेता है। कुछ ऐसी ही घटना तमिलनाडु से सामने आई है। यहां पर पुदुक्कोट्टई जिले के अंगलगुडी तहसील में 104 साल के एक बुजुर्ग की मृत्यु हो गई है। पति की मौत का सदमा पत्नी झेल नहीं पाई और करीब एक घंटे बाद ही 100 साल की बूढ़ी पत्नी ने भी दम तोड़ दिया। 


अंगलगुडी तहसील में 104 वर्षीय वेत्रिवेल की मृत्यु हो गई थी। पति की मौत के 1 घंटे पर उनकी पत्नी पिचाई की भी मौत हो गई। वेत्रवेल और पिचाई के रिश्तेदारों ने जानकारी दी की इस बुजुर्ग दंपत्ति की शादी को 75 साल हो गए थे।


वो अलंगुडी तहसील के कुप्पाकुडी द्रविड़ कॉलोनी में बचपन से रह रहे थे। दिलचस्प बात यह है वेत्रिवेल और पिचाई जब 9 साल के थे यह दोनों तब से ही दोस्त थे और उनकी शादी भी हुई। लोगों के लिए वेत्रिवेल और पिचाई  की जोड़ी एक मिसाल थी। लोगों का कहना है कि यह बुजुर्ग दंपत्ति बहुत खुशमिजाज थे।


 इस बुजुर्ग दंपत्ति के पांच बेटे और एक बेटी से 23 पोते और कई पर-पोते-पोतियां है। इनका एक भरा पूरा खुशहाल परिवार था। लेकिन सोमवार की रात को वेत्रिवेल के अचानक सीने में दर्द हुआ। इसके उनके पोते और पर-पोते उन्हें घर के पास ही हॉस्पिटल लेकर गए वहां पर डॉक्टरों ने वेत्रिवेल को मृत घोषित कर दिया था। 


जब वेत्रिवेल के शव को अंतिम संस्कार के लिए लेकर जा रहे थे ऐसे में उनकी पत्नी पिचाई अपने पति के निर्जीव शरीर को देख कर यह सब कुछ सहन नहीं कर पाई। उनके पोते ने बताया कि दादी दादा की डेड बॉडी देखकर बेहोश हो गई। जब हमने उन्हें हिलाया तो उनके शरीर में जान नहीं थी।


एल कुमरवेल ने आगे बताया कि हमने तुरंत दादी की जांच के लिए एक स्थानीय डॉक्टर को बुलया,लेकिन उनकी मृत्यु हो चुकी थी। दादा के निधन हो जाने के कुछ देर बाद दादी की भी मौत हो गई। अब सबका कहना है इस बुजुर्ग दंपत्ति का प्यार सभी के लिए किसी मिसाल से कम नहीं। 

Tags : Chhattisgarh,Punjab Kesari,जगदलपुर,Jagdalpur,Sanctuaries,Indravati National Park ,death,world