+

Tamil Nadu: सीएम स्टालिन ने कहा- मंदिर लोगों के लिए होते है... किसी की निजी संपत्ति नहीं

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने रविवार को कहा कि मंदिर लोगों के लिए होते हैं और यह किसी की निजी संपत्ति नहीं हो सकती।
Tamil Nadu: सीएम स्टालिन ने कहा- मंदिर लोगों के लिए होते है... किसी की निजी संपत्ति नहीं
तमिलनाडु के सीएम एम.के.स्टालिन ने रविवार को औपचारिक रूप से कहा, मंदिर लोगों की भक्ति के लिए होते है और यह किसी की भी निजी संपत्ति नहीं हो सकती है। ऐसे करने वाले लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ कर रहे है। 
tamilnadu cm mk stalin criticise amit shah statement amid hindi row htgp -  India Hindi News - 'यह इंडिया है हिंदिया नहीं' अमित शाह के बयान पर स्टालिन  को ऐतराज; हिंदी दिवस
जानकारी के मुताबिक   उन्होंने कहा कि राज्य हिंदू धार्मिक और धर्मार्थ बंदोबस्ती (एचआर एंड सीई) विभाग द्वारा सभी जातियों से ‘अर्चक’ (पुजारियों) की नियुक्ति सहित उठाये गये विभिन्न कल्याणकारी कदमों को समझ पाने में असमर्थ कुछ ताकतें निराधार आरोपों के साथ द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के नेतृत्व वाली सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रही हैं।
फिर मैं डिक्टेटर बन जाऊंगा'... जानिए क्यों मुख्यमंत्री स्टालिन ने  कर्मचारियों को दी वार्निंग - tamil nadu Cm Stalin says I am only soft for  the honest but turn into a dictator
मुख्यमंत्री यहां एक प्रमुख मंदिर में 31 जोड़ों के सामूहिक विवाह कार्यक्रम में शामिल हुए और विवाहित जोड़ों को ‘सीरवारीसाई’ (उपहार में दी जाने वाली वस्तुओं) का वितरण किया। कार्यक्रम यहां तिरुवनमियूर के अरुलमिगु मारुनथीश्वरार मंदिर में आयोजित किया गया था।उन्होंने कहा, ‘‘चाहे राजशाही हो या लोकतंत्र, मंदिर केवल लोगों के लिए होते हैं। वे केवल जनता के लिए हैं, चाहे किसी भी प्रकार का शासन हो। मंदिर किसी की निजी संपत्ति नहीं हैं। यह (एचआर एंड सीई) विभाग जस्टिस पार्टी के शासन के दौरान ही बनाया गया था।’’ इस क्षेत्र में द्रमुक के योगदान को याद करते हुए उन्होंने कहा कि दिवंगत एम करुणानिधि के नेतृत्व वाली पार्टी की पिछली सरकारों में कई मंदिरों की प्राण प्रतिष्ठा की गई थी।

facebook twitter instagram