नये चेहरों की परीक्षा में टीम इंडिया

धर्मशाला : कप्तान विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय टीम रविवार से यहां दक्षिण अफ्रीका के साथ शुरू होने वाली तीन मैचों की द्विपक्षीय श्रृंखला के साथ ही विश्व टी 20 खिताब को हासिल करने की तैयारियों में जुट जायेगी।वेस्टइंडीज के खिलाफ श्रृंखला में 3-0 की जीत इन तैयारियों की शुरूआत थी जिसने वनडे विश्व कप की निराशा को कुछ हद तक दूर किया। टीम की असली परीक्षा अब क्विंटन डी कॉक और कागिसो रबाडा के खिलाफ इस श्रृंखला के साथ शुरू होगी। रबाडा का अच्छा स्पैल और डेविड मिलर का प्रदर्शन भारतीयों के लिए चुनौती पेश कर सकता है। 

अब भी कई सवाल ऐसे हैं जिनका जवाब टीम प्रबंधन को अगले 13 महीनों में देना होगा और इस दौरान आईपीएल भी आयोजित किया जायेगा। कोहली, उप कप्तान रोहित शर्मा, आलराउंडर हार्दिक पंड्या और मुख्य तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (इस श्रृंखला में आराम दिया गया) को छोड़कर शुरूआती एकादश में कम से कम सात स्थान और 15 सदस्यीय टीम में चार और स्थान खिलाड़ी हासिल कर सकते हैं। 

एक अन्य पहलू स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव के छोटे प्रारूप के भविष्य का भी होगा। राजस्थान के लेग स्पिनर राहुल चाहर युवा प्रतिभाशाली गेंदबाज हैं और उन्हें भविष्य के गेंदबाज के रूप में देखा जा रहा है। आलराउंडर कृणाल पंड्या भी अच्छी तरह ढल रहे हैं और रवींद्र जडेजा का अनुभव भी कारगर साबित होगा। साथ ही भारत के पास युवा वाशिंगटन सुंदर के रूप में बैक-अप ‘फिंगर स्पिनर’ मौजूद है तो सवाल उठता है कि कुलदीप और चहल का स्थान टी20 टीम में कहां है। 

अंत में तेज गेंदबाजी विभाग में बुमराह की मौजूदगी निश्चित है। लेकिन दीपक चाहर भी छोटे प्रारूप के लिये अहम हो सकते हैं। फिर नवदीप सैनी और खलील अहमद के रूप में भी विविधता मौजूद है लेकिन दोनों काफी रन गंवाते हैं। अगले 13 महीनों में कोहली ये सभी जवाब ढूंढना चाहेंगे।
Tags : पटना,Patna,law,Ravi Shankar Prasad,Union Minister,Dalit,Punjab Kesari ,Team India,examination