+

तेलंगाना कांग्रेस ने भी राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाये जाने के सुर में सुर मिलाया

तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी (टीपीसीसी) ने भी वायनाड से लोकसभा सदस्य राहुल गांधी को पार्टी की कमान सौंपने के विभिन्न प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सुर में सुर मिलाते हुए बुधवार को एक प्रस्ताव पारित किया और राहुल से पार्टी अध्यक्ष का पद संभालने का अनुरोध किया।
तेलंगाना कांग्रेस ने भी राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाये जाने के सुर में सुर मिलाया
तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी (टीपीसीसी) ने भी वायनाड से लोकसभा सदस्य राहुल गांधी को पार्टी की कमान सौंपने के विभिन्न प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सुर में सुर मिलाते हुए बुधवार को एक प्रस्ताव पारित किया और राहुल से पार्टी अध्यक्ष का पद संभालने का अनुरोध किया।
पार्टी नेता एवं प्रदेश निर्वाचन अधिकारी राजमोहन उन्नीथन की अध्यक्षता में प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) के नये प्रतिनिधियों की बैठक में यह सर्वसम्मति से इस संबंध में एक प्रस्ताव पारित किया गया।
कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) के नेता मल्लू भट्टी विक्रमार्क ने बैठक के बाद संवाददाताओं को बताया कि प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद ए. रेवंत रेड्डी ने यह प्रस्ताव पेश किया।
उन्होंने बताया कि बैठक में कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी को पार्टी की प्रदेश इकाई का अध्यक्ष, कार्यकारिणी समिति और एआईसीसी सदस्यों को नामित करने या चयन करने के लिए अधिकृत करने का भी एक प्रस्ताव पारित किया गया।
तेलंगाना से पीसीसी के नये प्रतिनिधियों की बैठक में हिस्सा लेने के बाद कांग्रेस सांसद एन. उत्तम रेड्डी ने ट्वीट किया, ‘‘सर्वसम्मति से दो प्रस्ताव पारित किये गये, पहला- एआईसीसी अध्यक्ष को पार्टी की प्रदेश इकाई का अध्यक्ष, कार्यकारिणी समिति और एआईसीसी सदस्यों को नामित करने या चयन करने के लिए अधिकृत करना और दूसरा- राहुल गांधी को एआईसीसी अध्यक्ष पद संभालने के लिए अनुरोध करना।’’
कांग्रेस की राजस्थान, छत्तीसगढ़, बिहार, तमिलनाडु समेत कुछ अन्य राज्यों की प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाये जाने के लिए पहले ही प्रस्ताव पारित कर दिया है।
राहुल गांधी ने 2019 के आम चुनाव में पार्टी की करारी हार के बाद अध्यक्ष पद छोड़ दिया था।
कांग्रेस ने पिछले माह कहा था कि इसके अध्यक्ष का चुनाव 17 अक्टूबर को होगा और 19 अक्टूबर को परिणाम घोषित किया जाएगा। यदि नामांकन पत्र की वापसी के बाद केवल एक ही उम्मीदवार चुनाव मैदान में रह जाएगा, तो अध्यक्ष के नाम की घोषणा आठ अक्टूबर को ही हो जाएगी।
facebook twitter instagram