तेलंगाना के इस शख्स ने मिनी ट्रक को बनाया युवाओं के लिए चलता-फिरता इंटरनेट कैफे

एक बार जब इंसान कुछ करने की ठान लेता है तो वह उसे पूरा करके ही दम लेता है। ऐसा ही कुछ नजारा तेलंगाना में देखने को मिला है। जहां पर एक शख्स ने मिनी ट्रक को चलता फिरता इंटरनेट कैफे बना दिया है। जो शहरों की गलियों में घूम-धूमकर युवाओ की नौकरी के लिए फॉर्म भरते वक्त फोटोकॉपी कराने की सुविधा उपलब्ध कराता है।

इस शख्स का नाम अलीश बाबू है। वह तेलंगाना के खम्मम जिले का निवासी है। जो युवाओं को बिना किसी परेशानी लिए ऑनलाइन आवेदन करने और दस्तावेजों की फोटोकॉपी कराने में सहायता करते हैं। अब अलीश की इस पहल से सैकड़ों युवओं को लाभ मिल रहा है। इससे लोगों को इधर-उधर जाने की जरूरत नहीं होती है। 

अलीश बाबू एमटेक हैं 
बता दें कि अलीश बाबू एमटेक पास हैं। अपने मोबाइल कैफ़े के लिए उन्होंने बैंक से कर्ज लिया। उनके साइबर कैफे में इंटरनेट सुविधा के अलावा, फोटोकॉपी मशीन और एक प्रिंटर भी है। इसके साथ ही रेलवे टिकट की बुकिंग, पैसे ट्रांसफर और फोन रिचार्ज भी किया जाता है।

 
मिनी ट्रक को इंटरनेट कैफे बनाने आइडिया अलीश को इस वजह से आया जब उन्होंने अपनी जॉब गवाई। उन्होंने बताया कि वो एक जगह इंटरव्यू देने के लिए पहुंचे थे। वहां पर उन्होंने अपने दस्तावेज दिए। लेकिन उनके पास फोटोकॉपी नहीं थी। ऐसे में जब अलीश बाहर फोटोकॉपी करवाने के लिए आए तो उन्हें कोई दुकान नहीं मिली जिस वजह से डॉक्यूमेंट्स के जमा न हो पाने की वजह से उन्हें जॉब नहीं मिल पाई। 

तभी अलीश ने रिमोट इंटरनेट कैफे खोलने का निर्णय लिया। इसके लिए उन्होंने बैंक से लोन भी लिया है इसके साथ अलीश ने ट्रक खरीदने के लिए 6.5 लाख रुपए खर्च किए हैं  और पहियों पर दौड़ने वाला साइबर कैफे तैयार किया। कैफे इनवर्टर से चलता है।

Tags : Chhattisgarh,Punjab Kesari,जगदलपुर,Jagdalpur,Sanctuaries,Indravati National Park ,Telangana,Internet café