मस्जिदों को और ‘निर्माण अधिकार’ देने पर सहमत हुए थे ठाकरे : संजय राउत

मुंबई : शिवसेना सांसद संजय राउत ने शनिवार को दावा किया कि पार्टी संस्थापक बाल ठाकरे को जब यह बताया गया कि मुसलमान जगह के अभाव में सड़क पर नमाज पढ़ने के लिए मजबूर हैं तो उन्होंने सरकार से कहा था कि इसके लिए मस्जिदों को अधिक निर्माय योग्य स्थान (एफएसआई) मुहैया कराना चाहिए। फ्लोर स्पेस इंडेक्स या एफएसआई यह दर्शाता है कि प्रति वर्ग इकाई जमीन के कितने हिस्से में निर्माण की अनुमति है। कर्नाटक के बेलगाम में एक समारोह को संबोधित करते हुए शिवसेना सांसद ने कहा कि सरकार का आधार अगर धर्म बन गया तो ‘‘भारत दूसरा पाकिस्तान बन जाएगा।’’ 

शिवसेना के दिवंगत संस्थापक ठाकरे अपनी आक्रामक हिंदुत्ववादी राजनीति के लिए जाने जाते थे। राउत ने कहा, ‘‘बाला साहेब ठाकरे बांद्रा और भिंडी बाजार (मुंबई) में सड़कों पर नमाज पढ़े जाने के बिल्कुल खिलाफ थे। उन्होंने मुस्लिम समुदाय के लोगों से बातचीत की और पूछा कि इसे कैसे रोका जा सकता है।’’ उन्होंने बताया, ‘‘उन्हें (ठाकरे को) बताया गया कि मुसलमानों के पास नमाज पढ़ने के लिए कोई अन्य स्थान नहीं है। मुस्लिम नेताओं ने कहा कि राज्य सरकार मस्जिदों को अतिरिक्त एफएसआई (निर्माण अधिकार) दे और बाला साहेब ने इस पर सहमति जतायी थी।’’ 

शिवसेना नेता ने कहा, ‘‘आज नमाज सड़कों पर नहीं पढ़ी जाए तो यातायात बाधित नहीं होगा।” राउत ने यह दावा भी किया कि शिवसेना का हमेशा से मानना है कि मुसलमानों को समाज की मुख्यधारा का हिस्सा होना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘अगर सरकार धर्म के आधार पर चलती है तो भारत अगला पाकिस्तान बन जाएगा।’’ हिंदुत्ववादी राजनीति के बावजूद शिवसेना ने महाराष्ट्र में कांग्रेस और राकांपा के साथ मिल कर सरकार का गठन किया है। 
Tags : Badrinath,चारधाम यात्रा,बद्रीनाथ,हिमपात,Snow,भीषण ठंड,Kedarnath Dham,केदारनाथ धाम,Chardham Yatra,Gruzing cold ,Thackeray,Sanjay Raut,Shiv Sena,Muslims