+

लोकतंत्र के खतरे में होने और सांप्रदायिक सद्भाव बिगड़ने के कारण देश में माहौल चिंताजनक है : मुख्यमंत्री गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि देश में "माहौल" चिंताजनक है क्योंकि "लोकतंत्र खतरे में है और सांप्रदायिक सद्भाव खराब है"।
लोकतंत्र के खतरे में होने और सांप्रदायिक सद्भाव बिगड़ने के कारण देश में माहौल चिंताजनक है : मुख्यमंत्री गहलोत
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि देश में "माहौल" चिंताजनक है क्योंकि "लोकतंत्र खतरे में है और सांप्रदायिक सद्भाव खराब है"। गहलोत ने गुरुवार शाम जयपुर में एक कार्यक्रम के दौरान बहुप्रतीक्षित एलिवेटेड रोड का उद्घाटन किया और इसका नाम बदलकर 'भारत जोड़ो सेतु' कर दिया।
यह नाम पूरे देश में सकारात्मक संदेश देगा-गहलोत 
अंबेडकर सर्कल के पास एलआईसी बिल्डिंग को अजमेर रोड से जोड़ने वाली 2.8 किमी लंबी इस सड़क को पहले सोडाला एलिवेटेड रोड के नाम से जाना जाता था। यह कार्यक्रम ऐसे समय में आयोजित किया गया जब कांग्रेस की 'भारत जोड़ी यात्रा' चल रही है।
गहलोत ने कहा, 'भारत जोड़ी यात्रा शांति और एकता का संदेश दे रही है। देश में माहौल चिंताजनक है, लोकतंत्र खतरे में है और सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ रहा है. ऐसे में इसे 'भारत जोड़ो सेतु' कहना पूरे देश में एक सकारात्मक संदेश जाएगा। उन्होंने कहा कि सड़क न केवल दो जगहों को जोड़ती है, बल्कि दिलों को भी जोड़ती है। गहलोत ने कहा कि 'भारत जोड़ी यात्रा' का मकसद देश से नफरत को दूर करना, एक-दूसरे के दिल में प्यार बढ़ाना और भाईचारे को बढ़ावा देना है.
इस यात्रा को यादगार बनाने के लिए इस एलिवेटेड रोड का नाम 'भारत जोड़ो सेतु' रखा 
250 करोड़ रुपये की लागत से बनी यह सड़क जयपुर के लोगों को बड़ी राहत देगी. गहलोत ने 222 करोड़ रुपये की छह अन्य परियोजनाओं का भी शिलान्यास किया. इस सड़क से 22 गोदामों, हवा रोड और संडीला तिराहा पर लगे जाम से काफी राहत मिलेगी. अंबेडकर सर्किल से 22 गोदाम सर्किल और हवा रोड होते हुए सोडाला सब्जी मंडी पहुंचने में करीब 20 से 25 मिनट का समय लगता है। इस एलिवेटेड रोड के खुलने के बाद इस दूरी को तय करने में महज 10 मिनट का समय लगेगा।
facebook twitter instagram