+

पार्टी में आरक्षण लागू करने वाली पहली पार्टी बनी विकासशील इंसान पार्टी

पार्टी में आरक्षण लागू करने वाली पहली पार्टी बनी विकासशील इंसान पार्टी
पटना : बिहार में एक साल पहले गठित तथा इतने ही समय में मुख्यधारा की पार्टियों में शामिल हो चुकी विकासशील इंसान पार्टी ने बिहार तथा देश के राजनीतिक इतिहास में मील का पत्थर साबित होने वाली घोषणा की है। पार्टी अध्यक्ष सन ऑफ़ मल्लाह मुकेश सहनी ने घोषणा किया कि वीआईपी में SC/ST तथा अतिपिछड़ा (BC-1) को 50% आरक्षण दिया जाएगा। पटना में आयोजित संवाददाता सम्मलेन में मुकेश सहनी द्वारा इस घोषणा के साथ ही वीआईपी बिहार तथा देश के राजनीतिक इतिहास में ऐसा करने वाली पहली पार्टी बन गई है।

पत्रकारों को संबोधित करते हुए मुकेश सहनी ने कहा कि विकासशील इंसान पार्टी में SC/ST तथा अतिपिछड़ा को 50% आरक्षण दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि संगठन में बूथ कमिटी से लेकर राष्ट्रीय कमिटी तथा यह आरक्षण लागू होगा। साथ ही लोकसभा तथा विधानसभा सहित सभी चुनावों में तथा राज्यसभा एवं विधान परिषद के साथ-साथ पार्टी/संगठन के अन्य तमाम पदों पर यह आरक्षण लागू होगा। इसके तहत SC को 15%। ST को 2% तथा अतिपिछड़ा को 33% आरक्षण दिया जाएगा। आजादी के बाद बिहार तथा देश की राजनीति में वीआईपी ऐसा करने वाली पहली पार्टी बन गई है तथा पार्टी का यह ऐतिहासिक निर्णय बिहार तथा देश की राजनीति में सामाजिक न्याय तथा सामाजिक समानता के एक नए अध्याय का सुभारंभ करेगी।

सन ऑफ़ मल्लाह ने कहा कि आजतक कई राजनीतिक दलों ने अतिपिछड़ा को सिर्फ वोट बैंक के तौर पर इस्तेमाल किया है तथा उन्हें सम्मान से वंचित रखा है। उन्होंने कहा कि वे खुद भी अतिपिछड़ा समाज से आते हैं, प्रदेश में जिसकी आबादी कुल आबादी का 33% है। इसलिए हमने निर्णय लिया है कि अतिपिछड़ा के लिए उचित राजनीतिक सम्मान तथा प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करेंगे। हमारा यह निर्णय 2020 के आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में देखने को मिलेगा।

पत्रकारों के सवाल के जवाब में मुकेश सहनी ने कहा कि बिहार का अतिपिछड़ा समाज (जिसकी 128 जातियां मौजूद हैं, जिसमें बड़ी संख्या में निषाद समाज शामिल हैं) पुरे जोशो-जूनून के साथ वीआईपी के साथ है। अभी हाल ही में सिमरी-बख्तियारपुर उपचुनाव में बिहार के अतिपिछड़ा समाज ने दिखा दिया कि वे वीआईपी के साथ मजबूती से खड़ी है। इस उपचुनाव में एक ओर जहाँ महागठबंधन के प्रत्याशी मैदान में थे वहीँ NDA ने भी अपनी पूरी ताकत लगा दी थी। बावजूद इसके वीआईपी ने 25,000 से अधिक वोट प्राप्त किए जिसमें सबसे ज्यादा अतिपिछड़ा तथा दलित समाज के भाइयों एवं माता-बहनों का वोट शामिल रहा। 

सन ऑफ़ मल्लाह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने आजतक बिहार के अति पिछड़ा समाज को सिर्फ ठगने का काम किया है। उन्होंने आजतक सिर्फ अतिपिछड़ा समाज को वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल किया है तथा इस समाज को सम्मान से हमेशा वंचित रखा है। उन्होंने कहा कि खुद को अतिपिछड़ा का नेता बताने वाले नीतीश कुमार ने बिहार के अतिपिछड़ा समाज के साथ छल किया है तथा उन्हें हमेशा राजनीतिक सम्मान तथा भागीदारी से दूर रखा है। मगर समाज उनकी असलियत को समझ गई है। जनता ने नीतीश कुमार की असलियत को समझते हुए सिमरी-बख्तियारपुर उपचुनाव में वीआईपी के पक्ष में मतदान करते हुए यह साबित कर दिया कि यह समाज अब उनके झांसे में नहीं आने वाली।

इस दौरान पार्टी सुप्रीमो मुकेश सहनी द्वारा पटना हाई कोर्ट के अधिवक्ता संजय कुमार मनु को पार्टी का राष्ट्रीय प्रवक्ता नियुक्त किया गया। इस अवसर पर राजीव मिश्रा, अशोक चौहान, गौतम बिंद, संतोष कुशवाहा, छोटे सहनी, बालमुकुन्द चौहान, नीलम सिन्हा, डॉ विश्वनाथ प्रसाद, मधुकर आनंद सहित पार्टी के कई गणमान्य नेता उपस्थित रहे।
facebook twitter