बापू के जीवन का संदेश है ‘हिंसा का जवाब हिंसा नहीं’ : CM गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि महात्मा गांधी का जीवन इस बात का साक्षी है कि हिंसा का जवाब कभी भी हिंसा नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि सत्य के मार्ग पर चलकर अहिंसा से हिंसा का मुकाबला करते हुए बिना खून-खराबे के आजादी दिलवाना बापू का ही करिश्मा था। 

गहलोत सोमवार को जोधपुर में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित ‘मैं भी गांधी हूँ’ कार्यक्रम में स्कूली छात्र-छात्राओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि गांधी जी के विचार और सोच आज भी जीवंत हैं। उनके द्वारा अपनाया गया सत्य एवं अहिंसा का मार्ग ही देश और दुनिया में अमन-चैन की रक्षा कर सकता है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज जो लोग महात्मा गांधी का नाम लेने लगे हैं, उन्हें बापू को दिल से अपनाने की जरूरत है, दिमाग से नहीं। महात्मा गांधी के प्रिय भजनों का एक-एक शब्द उनके जीवन का संदेश है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें आवश्यकता है कि गांव-शहर, गरीब-अमीर, छात्र और आम लोग बापू के संदेश को आत्मसात करें और एक-दूसरे को इसके लिये प्रेरित करें। 

उन्होंने कहा कि बापू के साथ-साथ मौलाना अबुल कलाम, सरदार पटेल आदि के विचारों ने हमारे मुल्क को एक सूत्र में बांधे रखा है। इस अवसर पर जोधपुर के बीजेएस स्थित सेन्ट्रल एकेडमी विद्यालय व रोटरी क्लब मिड टाउन द्वारा आयोजित ‘मै भी गांधी हूँ’ कार्यक्रम में विभिन्न स्कूलों के 6500 वि़द्यार्थियों ने एक साथ गांधी वेश में भारत के नक्शे को साकार करके इंडिया बुक ऑफ रिकॉडर्स में रिकार्ड दर्ज करवाया। इस अवसर पर विद्यार्थियों ने एक साथ 50 हजार पौधे लगाकर एक वर्ष तक उनके संरक्षण का संकल्प भी लिया। 

Tags : भारतीय जनता पार्टी,Bharatiya Janata Party,गुजरात,Gujarat,उना कांड,विधायक प्रदीप परमार,Una Kand,MLA Pradeep Parmar ,Bapu,Ashok Gehlot,CM Gehlot,Rajasthan,witness