सहजन की चाय पीने से होंगे ये 9 बेमिसाल फायदे

सब्जी और सांभर में आपने सहजन यानी मोरिंगा का स्वाद जरूर चखा होगा। बता दें कि सहजन के पत्तियों के पाउडर से चाय भी लोग बनाने लग गए हैं। सहजन की चार के कई ऐसे बेमिसाल फायदे जो सेहत के लिए बहुत लाभकारी हैं। 


आजकल लोगों की जिंदगी बहुत भागदौड़ वाली हो गई है जिसकी वजह से हेल्दी नहीं रह पाते हैं। सहजन की चाय पीने से आप अपनी जिंदगी को थोड़ा हेल्दी बना सकतेे हैं। मोरिंगा चाय के कई स्वास्‍थ्य लाभों के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं। 


1. बचाता है बैक्टीरिया से होने वाली बीमारियों से


एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और अंतिमिक्रोबिअल जैसे तत्व मोरिंगा चाय में पाए जाते हैं। कई तरह के बैक्टिरिया से शरीर में होने वाली बीमारियों से बचाता है। 

2. कंट्रोल रखता है कोलेस्ट्रॉल के लेवल को


शरीर में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल लेवल मोरिंगा की चाय पीने से कंट्रोल में रहता है। शरीर में होने वाली दिल की बीमारियों का खतरा कम करता है। 

3. मजबूत होता है इम्यून सिस्टम 


अगर आपको इम्यून सिस्टम मजबूत नहीं है तो रोज मोरिंगा चाय का सेवन जरूर पीया करें। शरीर में मेटॉबॉलिज्म को बूस्ट करने में भी मोरिंगा चाय काफी मददगार साबित होता है। 

4. ठीक होती है डायबिटीज


शरीर में शुगर लेवल भी मोरिंगा चाय पीने से कंट्रोल में रहती है। इसके अलाव शरीर में यूरीन में प्रोटीन की मात्रा को कंट्रोल करके हिमोग्लोबिन का स्तर भी मोरिंगा चाय पीने से सही रहता है। 

5. डिटॉक्स करती है बॉडी को


शरीर में मौजूद विषैले तत्व मोरिंगा चाय पीने से बाहर निकलते हैं। साथ ही आपकी बॉडी भी डिटॉक्स हो जाती है। 

6. कागरगर है अस्‍थमा के इलाज में


अस्‍थमा की परेशानी भी मोरिंगा चाय पीने से ठीक हो जाती है साथ ही फेफड़े भी सही रहते हैं। यह श्वसन प्रणाली को भी दुरुस्त करता है। 

7. कम करती है हाई ब्लड प्रेश को 


इसोथीओसीएनटे और निअजीमिनीं तत्व मोरिंगा में होते हैं जो धमनियां को मोटा होने से बचाता है। शरीर में हाई ब्लड प्रेशर की परेशानी को भी कम करता है। 

8. मदद करती है वजन कम करने में


मोरिंगा की चाय पीने से वजन भी कम होता है। हाई कैलोरी फूड अगर आप खा लेते हैं तो यह चाय पीने से आपका शरीर में एनर्जी के साथ फैट भी स्टोर नहीं होतो है। 

9. दूर रखती है सर्दी खांसी से 


सर्दी-खांसी, जुकाम, वायरल इंफेक्‍शन जैसी परेशानी भी मोरिंगा चाय पीने से निजात मिलता है। 
Tags :