+

दिल्ली में फर्जी कोविड-19 रिपोर्ट देने के मामले में तीन लोग गिरफ्तार

राष्ट्रीय राजधानी में एक पैथोलॉजी लैब के तीन कर्मियों को फर्जी आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने इसकी जानकारी दी ।
दिल्ली में फर्जी कोविड-19 रिपोर्ट देने के मामले में तीन लोग गिरफ्तार
राष्ट्रीय राजधानी में एक पैथोलॉजी लैब के तीन कर्मियों को फर्जी आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने इसकी जानकारी दी ।
पुलिस ने मंगलवार को बताया कि आरोपियों की पहचान उत्तम नगर निवासी जीतेंद्र साहू (25) और सन्नी सिंह (29) तथा द्वारका सेक्टर-13 निवासी सुनील कुमार (20) के रूप में हुई है। उन्होंने बताया कि ये तीनों पंजाबी बाग की प्रयोगशाला में काम करते हैं।
पुलिस के पास इस मामले में पांच मई को शिकायत दर्ज कराई गई थी।
पुलिस ने बताया कि शिकायतकर्ता उमंग गोगिया ने अपने परिवार की कोविड-19 संबंधी जांच के लिए 21 अप्रैल को नमूने दिए थे। इसके लिए उन्होंने उनके घर नमूने लेने आने वाले व्यक्ति को नौ हजार रुपए दिए थे, लेकिन जब चार दिन बाद भी रिपोर्ट नहीं मिलीं, तो उन्होंने इस संबंध में व्यक्ति से पूछताछ की। गोगिया को उनके परिवार के सदस्यों के संक्रमित नहीं होने की पुष्टि करने वाली रिपोर्ट 28 अप्रैल को मिली, लेकिन रिपोर्ट पर नमूने एकत्र करने की तारीख गलत लिखी थी।
पुलिस ने बताया कि पंजाबी बाग में प्रयोगशाला में इस संबंध में पूछताछ करने पर पता चला कि रिपोर्ट फर्जी थी।
facebook twitter instagram