+

ट्रैक्टर परेड षडयंत्र मामले में संदिग्ध युवक पर बोले टिकैत- 'प्रशासन और सरकार ही करवाते हैं इस तरह की हरकत'

किसान 26 जनवरी के दिन ट्रैक्टर रैली निकालने पर अड़े हुए हैं, वहीं दूसरी ओर दिल्ली बॉर्डर पर किसानों ने एक संदिग्ध युवक को पकड़ा है, जिसने कबूल किया कि वह 26 जनवरी के दिन एक बड़ी घटना को अंजाम देने के उद्देश्य से आया है।
ट्रैक्टर परेड षडयंत्र मामले में संदिग्ध युवक पर बोले टिकैत- 'प्रशासन और सरकार ही करवाते हैं इस तरह की हरकत'
किसान 26 जनवरी के दिन ट्रैक्टर रैली निकालने पर अड़े हुए हैं, वहीं दूसरी ओर दिल्ली बॉर्डर पर किसानों ने एक संदिग्ध युवक को पकड़ा है, जिसने कबूल किया कि वह 26 जनवरी के दिन एक बड़ी घटना को अंजाम देने के उद्देश्य से आया है। इस मसले पर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा, 'प्रशासन और सरकार ही इस तरह की हरकत करवातें हैं।'
दरअसल सिंघु बॉर्डर पर किसानों ने एक संदिग्ध व्यक्ति को पकड़ा है। किसानों का दावा है कि उसने (संदिग्ध व्यक्ति ने) आंदोलन को बाधित करने की साजिश रची है। हालांकि किसानों ने देर रात उस युवक को सबके सामने पेश किया। फिलहाल युवक को पुलिस के हवाले कर दिया गया है। संदिग्ध ने मीडिया के सामने इस बात को कबूल किया है कि 'स्टेज पर जो भी किसान नेता होंगे, उनमें से चार लोगों पर गोली चलाएंगे।'
इस मसले पर भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने बताया, "ये जो लड़का पकड़ा गया है ये एक गैंग का हिस्सा है। प्रशासन और सरकार के लोग ही इस तरह की हरकत करवातें हैं।" उन्होंने कहा कि "सरकार कह रही है ये मार्च हिंसक होगा, कैसे पता सरकार को की हिंसक होगा ? बीते 2 महीने से हमारा आंदोलन शांतिपूर्ण चल रहा है। तो सरकार को कैसे पता कि 26 जनवरी हो मार्च हिंसक ही होगा?" ये जो व्यक्ति पकड़ा गया है ये 10 आदमी के समूह का हिस्सा है, जिसे हमने पुलिस को सौंप दिया है। कौन एजेंसी उससे पूछताछ करेगी ? ये सब जांच का विषय है।
उन्होंने आगे कहा, "हरियाणा में मुख्यमंत्री खट्टर के कार्यक्रम में भी यही लोग थे, सब खुलासा हो गया कि सरकार ही इस तरह की हरकत कराती है। पकड़े गए संदिग्ध ने अधिकारियों के नाम लिए, लोगों के नाम भी बताए।" जहां भीड़ है, वहां हिंसा करानी होती है तो इस तरह की हरकत प्रशासन करता है। इन गैंग्स को ट्रेनिंग दी जाती है, फिर वही लोग भीड़ में रहकर भीड़ की तरफ से हिंसक घटनाएं करते हैं।
उन्होंने कहा कि "हमारे करीब 200 वोलेंटियर्स बॉर्डर्स पर तैनात है जो इस तरह के लोगों पर निगरानी रखते है। हम शांतिपूर्ण तरह से प्रदर्शन करना चाहते है।" संदिग्ध युवक ने इन बात को भी कबूला है कि जैसे ही किसान 26 तारीख को आगे बढ़ने की कोशिश करेंगे, और यदि किसान नहीं रूकते तो इन पर गोली चलाएंगे। जिससे दिल्ली पुलिस को ये लगता कि किसानों ने किया है। दरअसल किसानों ने 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर रैली निकालने की योजना बनाई है जिसके लिए लाखों किसान देशभर के विभिन्न हिस्सों से दिल्ली पहुंच रहे हैं।

गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर परेड पर निर्णय आज, करीब 30 किलोमीटर के हो सकते हैं 3 रूट 

facebook twitter instagram