+

श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्‍यतिथि आज, PM मोदी सहित BJP के कई नेताओं ने किया नमन

श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्‍यतिथि आज, PM मोदी सहित BJP के कई नेताओं ने किया नमन
भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की आज पुण्‍यतिथि है। 23 जून साल 1953 में आज के ही दिन उनका  रहस्यमय परिस्थितियों में निधन हो गया था। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित बीजेपी के कई नेताओं और संघ के सदस्यों ने उनको नमन किया। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा "मां भारती के महान सपूत डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी को उनकी पुण्यतिथि पर शत-शत नमन।" 
बीजेपी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'एक देश में दो विधान, दो निशान, दो प्रधान नहीं चलेंगे' का नारा देकर जम्मू-कश्मीर के सर्वांगीण विकास हेतु धारा 370 और 35A को समाप्त करने की प्रेरणा का बीजारोपण करने वाले जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी के बलिदान दिवस पर उन्हें कोटि-कोटि नमन।' 
पूर्व मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने ट्वीट कर कहा है कि राष्ट्रीय अस्मिता के अद्वितीय प्रतीक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर शत-शत नमन। भारत की एकता और अखंडता के लिए उनका बलिदान हम सभी के लिए प्रेरणास्रोत है। 
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल हॉस्पिटल पहुंचे और वहां उन्होंने श्यामा प्रसाद मुखर्जी को पुष्पांजलि अर्पित की। इसके बाद मुख्यमंत्री ने हॉस्पिटल का जायज़ा लिया और मरीजों का हाल जाना।
श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जवाहरलाल नेहरू से अलग होकर 1951 में भारतीय जन संघ की नींव रखी थी। श्यामा प्रसाद मुखर्जी जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने के खिलाफ थे। उनका कहना था कि एक देश में दो विधान, दो निशान और दो प्रधान, नहीं चलेंगे। 
श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने साल 1953 में बिना परमिट के कश्मीर का दौरा किया, जहां उन्हें जम्मू-कश्मीर की तत्कालीन शेख अब्दुल्ला सरकार ने गिरफ्तार कर लिया था। इसी दौरान रहस्यमय परिस्थितियों में उनकी मौत हो गई थी। श्यामा प्रसाद मुखर्जी के निधन के कुछ समय बाद प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने जम्मू-कश्मीर में परमिट सिस्टम को खत्म कर दिया था। 
facebook twitter