+

TOP 5 NEWS 09 FEBRUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में मंत्रिमंडल गठन के 85 दिनों बाद अब नीतीश मंत्रिमंडल का आज यानी मंगलवार को विस्तार होने जा रहा है।
TOP 5 NEWS 09 FEBRUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें
1 - नीतीश मंत्रिमंडल का विस्तार आज

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में मंत्रिमंडल गठन के 85 दिनों बाद अब नीतीश मंत्रिमंडल का आज यानी मंगलवार को विस्तार होने जा रहा है। गौर हो कि बिहार विधानसभा में 243 सीटें हैं। कुल संख्या का 15 प्रतिशत हिस्सेदारी मंत्रिमंडल में हो सकती है। इसके मुताबिक बिहार में सीएम सहित कुल 36 मंत्री हो सकते हैं। बता दें कि मंत्रिमंडल में 17 मंत्रियों के शपथ लेने की संभावना है। भाजपा से नौ, जबकि जदयू से आठ मंत्री शपथ ले सकते हैं। अभी नीतीश सरकार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को छोड़कर 13 मंत्री हैं। इनमें जदयू से चार, भाजपा से सात, जबकि हम और वीआईपी कोटे के एक-एक मंत्री हैं। राजभवन सचिवालय से मिली जानकारी के मुताबिक शपथ ग्रहण समारोह दोपहर 12.30 बजे राजभवन के राजेन्द्र मंडप में आयोजित होगा। गौरतलब है कि राज्य मंत्रिमंडल का गठन 16 नवम्बर को हुआ था।

2 -AstraZeneca Vaccine : भारत में बन रही एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के आपातकाल उपयोग पर जल्द फैसला लेगा WHO

WHO भारत और दक्षिण कोरिया में उत्पादित ऑक्सफोर्ड / एस्ट्राजेनेका कोरोना वायरस वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग को सूचीबद्ध करने के लिए आने वाले दिनों में फैसला लेगा। डब्ल्यूएचओ महानिदेशक टेड्रोस एडहोम घेब्रेसस ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा, 'आने वाले कुछ दिनों में डब्ल्यूएचओ ऑक्सफोर्ड / एस्ट्राजेनेका कोरोना वायरस वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग को सूचीबद्ध करने के लिए फैसला लेगा जिनका निमार्ण भारत और दक्षिण कोरिया में हो रहा है। हम यह आकलन करने के लिए सभी उपलब्ध डेटा का उपयोग करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।'उल्लेखनीय है कि ऑक्सफोर्ड / एस्ट्राजेनेका द्वारा बनाई गई कोवेक्स वैक्सीन को भारत,ब्राज़ील और अन्य देश समेत यूरोपीय संघ में इस्तेमाल करने की अनुमति पहले ही मिल गई है।

3 - कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी बोले - लाल किला उपद्रव के पीछे सरकार की साजिश

कांग्रेस नेता ने राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए सोमवार को कहा कि दिल्ली में 26 जनवरी को किसान आंदोलन के दौरान जो कुछ हुआ वह सोची समझी साजिश है और किसान आंदोलन को खत्म करने के लिए हुई इस साजिश में सरकार शामिल रही है। उन्होंने कहा कि यह कैसे हो सकता है कि जिस सरकार को पाकिस्तान में क्या हो रहा है इसकी जानकारी है उसे दिल्ली में होने वाले उपद्रव की जानकारी नहीं थी। उन्होंने इस साजिश को सरकार की सोची विचारी रणनीति का हिस्सा बताया और कहा कि सरकार किसनों के आंदोलन को बलपूर्वक खत्म करने में असफल रही है इसलिए उसने छल बल का सहारा लिया और गणतंत्र दिवस पर उपद्रव होने दिया। 

4 - यूपी के किसानों की तलाश, इन जिलों के कुछ लोगों की हुई पहचान

दिल्ली पुलिस यूपी ने कुल पांच जिलों के चिह्नित किसानों को नोटिस भी भेजा है। बागपत में नौ किसानों को अब तक नोटिस मिल चुका है। इन्हें बयान दर्ज करने के लिए दिल्ली के सीमापुरी पुलिस स्टेशन तलब किया गया है। नोटिस देने के मामले में यूपी पुलिस दिल्ली पुलिस का सहयोग कर रही है। गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा की जांच के तहत दिल्ली पुलिस ने वीडियो फुटेज कर किसानों को चिन्हित करने की कवायद शुरू की है। इस पड़ताल में यूपी के कई किसानों को चिन्हित किए जाने की जानकारी सामने आई है। इनमें कई वीडियो दिल्ली के नागरिकों ने मुहैया कराए हैं। सूत्र बताते हैं किदिल्ली पुलिस ने बागपत, शामली, मुजफ्फरनगर, शाहजहांपुर व लखीमपुर खीरी के कई ऐसे लोगों को चिह्नित किया है जो किसान के रूप में दिल्ली गए हुए थे और गणतंत्र दिवस के मौके पर हुई हिंसा करने वाली भीड़ का हिस्सा थे। 

5 - एक और फैसला पलटेंगे राष्ट्रपति जो बाइडन, यूएनएचआरसी से जुड़ेगा अमेरिका

बाइडन प्रशासन इस सप्ताह संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) से एक बार फिर जुड़ने की घोषणा कर सकता है। बता दें कि तीन साल पहले परिषद से अमेरिका को अलग करने का फैसला लेकर ट्रंप दोनों के रिश्तों में कड़वाहट ला चुके हैं। बाइडन प्रशासन के इस फैसले से बहुपक्षीय संगठनों और समझौतों के संबंध में पूर्ववर्ती ट्रंप प्रशासन द्वारा लिया गया एक और निर्णय पलट जाएगा। अमेरिका के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बाइडन प्रशासन मानता है कि परिषद में सुधार जरूरी हैं और ऐसे में बदलाव लाने का सही तरीका यही है कि उसके साथ मिलकर सैद्धांतिक तरीके से काम किया जाए।


facebook twitter instagram