+

TOP 5 NEWS 16 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें

भारत शनिवार को दुनिया के सबसे बडे़ टीकाकरण अभियान का आगाज करेगा। पहले दिन देश के तीन लाख स्वास्थ्य कर्मचारियों को खुराक दी जाएगी।
TOP 5 NEWS 16 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें
1 - कोरोना वैक्सीन : दुनिया के सबसे बडे़ टीकाकरण अभियान का आगाज आज

भारत शनिवार को दुनिया के सबसे बडे़ टीकाकरण अभियान का आगाज करेगा। पहले दिन देश के तीन लाख स्वास्थ्य कर्मचारियों को खुराक दी जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 10:30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों और स्वास्थ्य मंत्रियों को संबोधित करते हुए टीकाकरण का शुभारंभ करेंगे। वह कोविन वेबसाइट और एप लॉन्च करेंगे। हालांकि, आम लोग टीकाकरण के लिए मार्च से कोविन एप पर अपना पंजीकरण करा सकेंगे। पूरे देश में एक साथ टीकाकरण अभियान की शुरुआत होगी और सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में इसके लिए कुल 3006 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं। देशभर के 2,934 केंद्रों पर टीके लगेंगे, जो वर्चुअल रूप से जुड़े रहेंगे। उद्घाटन के दिन प्रत्येक केंद्र पर करीब 100 लाभार्थियों को टीका लगाया जाएगा। 

2 - WHATSAPP : विरोध के बाद झुका व्हॉट्सऐप,  8 फरवरी की डेडलाइन टाली

इंस्टेंट मेसेजिंग ऐप्लीकेशन व्हाट्सऐप ने अपनी नई डेटा-शेयरिंग पॉलिसी को फिलहाल टाल दिया है। दरअसल नई पॉलिसी में फेसबुक और इंस्टाग्राम का इंटीग्रेशन ज्यादा था जिसकी वजह से यूजर्स का व्हाट्सऐप डेटा फेसबुक से भी शेयर किया जाता। व्हाट्सऐप की इस निजता नीति से परेशान होकर यूजर्स उसकी प्रतिद्वंद्वी ऐप्ल टेलीग्राम और सिग्नल पर शिफ्ट हो रहे थे। नई शर्तों और नीति को स्वीकार करने के लिए तय 8 फरवरी की अंतिम तारीख को व्हॉट्सएप ने फिलहाल टाल दिया है। व्हाट्सऐप ने कहा है कि वह प्राइवेसी और सुरक्षा को लेकर यूजर्स के बीच फैली भ्रामक जानकारियों को दूर करेगा। बता दें कि व्हॉट्सएप ने 4 जनवरी को 'इन-एप’ अधिसूचना के जरिए नई निजता नीति को घोषित करते हुए अपने यूजर्स को सेवा की शर्तों और गोपनीयता की नीति के बारे में अपडेट देना शुरू किया। 

3 - DELHI RAILWAY STATION : हवाईअड्डे की तरह दिखेगा नई दिल्ली स्टेशन

अगले चार साल के भीतर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर हवाईअड्डे की तर्ज पर सुविधा होंगी। यहां आधुनिक सुविधाओं वाली नई इमारत बनेगी, जिसमें दो प्रवेश व निकास गेट होंगे। साथ ही रेलवे कार्यालय, रेलवे क्वार्टर और सहायक रेलवे कार्यालय बनाए जाएंगे। स्टेशन परिसर के साथ ही व्यवसायिक कार्यालय, होटल और आवासीय परिसर बनाए जाएंगे। स्टेशन के दोनों तरफ दो मल्टी-मॉडल ट्रांसपोर्ट हब और 40 मंजिल ऊंचे दो टावर बनाने की योजना है। रेल भूमि विकास प्राधिकरण आरएलडीए यह काम करेगी। पुनर्विकास परियोजना से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। आरएलडीए ने नई दिल्‍ली रेलवे स्‍टेशन के पुनर्विकास पर ऑनलाइन रोडशो के जरिए अंतरराष्‍ट्रीय रीयल एस्‍टेट डेवलपर्स, इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर कंपनियों और वित्‍तीय संस्‍थानों को आकर्षित करना चाहती है. यह ऑनलाइन रोडशो 19 जनवरी तक चलेगा। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर बताया कि नई दिल्‍ली रेलवे स्‍टेशन के पुनर्विकास के बाद लोगों को यहां अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर की सुविधाएं मिलेंगी। नई दिल्‍ली रेलवे स्‍टेशन पुनर्विकास परियोजना 120 हेक्टेयर में फैली होगी।

4 - WINTER UPDATE : यूपी में अगले 24 घंटे जारी रहेगा सर्दी का सितम

शुक्रवार को गलन से प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में लोग ठिठुरते रहे। मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान भी ऐसा ही मौसम रहने के आसार हैं। पूर्वी व पश्चिमी अंचलों के कुछ हिस्सों में कहीं घना तो कहीं बहुत घना कोहरा छाया रहेगा। इस दरम्यान कुछ इलाकों में शीतलहर भी चलेगी। कई इलाकों में दिन में धूप भी नहीं निकलेगी। सहारनपुर, शामली, मुजफ्फरनगर, मेरठ, अलीगढ़, आगरा, हमीरपुर, बिजनौर, अमरोहा, रामपुर, बरेली, बहराइच, श्रावस्ती, हरदोई, गोण्डा, बस्ती, संत कबीरनगर, गोरखपुर, कानपुर नगर, सुल्तानपुर, अयोध्या, रायबरेली, बाराबंकी और वाराणसी तथा इन जिलों के आसपास के इलाकों में दिन में धूप नहीं निकलेगी, कुहासा बना रहेगा। वहीं रेली, आगरा, हमीरपुर, हरदोई, सोनभद्र में शीतलहर चलेगी।

5 - CORONAVIRUS : दुनियाभर में कोरोना वायरस से अब तक 20 लाख लोगों की मौत

कई देशों ने महामारी पर काबू पाने के लिए अपने यहां टीकाकरण शुरू कर दिया है लेकिन गरीब और कम विकसित देशों में टीका पहुंचने में दिक्कत है। कोरोना वायरस दिसंबर 2019 में पहली बार चीन के वुहान शहर में सामने आया था। जॉन हॉपकिन्स विश्वविद्यालय द्वारा संकलित किए गए मृत्यु संबंधी आंकड़े ब्रसेल्स, मक्का और वियना की आबादी के बराबर हैं। बता दें कि शुरुआती 10 लाख लोगों की मौत आठ महीनों में हुई थी, लेकिन अगले 10 लाख लोग चार महीने से भी कम समय में मर गए। मौत के ये आंकड़े दुनियाभर में सरकारी एजेंसियों द्वारा बताए गए हैं, जबकि बीमारी के कारण मृतकों की असल संख्या अधिक हो सकती है क्योंकि महामारी के शुरुआती दिनों में मौत होने के कई अन्य कारण भी बताए गए थे।

facebook twitter instagram