+

दिल्ली में ट्रैफिक पुलिस को कार के बोनट पर लटका कर 400 मीटर तक घसीटा, 2 गिरफ्तार

ट्रैफिक नियमों के उल्‍लंघन पर पुलिसवाला कार रोकने की कोशिश कर रहा था, तभी कार चालक कांस्‍टेबल को बोनट पर घसीटता हुआ ले गया।
दिल्ली में ट्रैफिक पुलिस को कार के बोनट पर लटका कर 400 मीटर तक घसीटा, 2 गिरफ्तार
देश और दुनिया की सुरक्षा करने वाली पुलिस ही सबसे ज्यादा असुरक्षित है। एक मामला देश की राजधानी दिल्ली से सामने आया है जिसमे  ट्रैफिक पुलिसवाले को एक कार चालक बोनट पर घसीटता हुआ ले गया.  इन दिनों पुलिस ही सबसे ज्यादा असुरक्षित है. कभी कोई दिल्ली पुलिस के जवान पर कार चढ़ाने की कोशिश करता है तो कभी कोई उन पर हमला कर देता है. इस बार दिल्ली में पुलिसवाले को एक कार चालक बोनट पर घसीटता हुआ ले गया. ट्रैफिक नियमों के उल्‍लंघन पर पुलिसवाला कार रोकने की कोशिश कर रहा था, तभी कार चालक कांस्‍टेबल को बोनट पर घसीटता हुआ ले गया। 
चालक कार को लहराकर पुलिसकर्मी को पटकने की कोशिश करता है. आखिरकार कार चालक कामयाब हो जाता है और पुलिसकर्मी पीट के बल धड़ाम से बीच सड़क पर गिर जाता है। ये मामला 12 अक्टूबर को धौला कुंआ का है। इस तरह की घटना दिल्ली पुलिस की सुरक्षा पर और ट्रैफिक पुलिस की सुरक्षा पर बड़ा सवाल उठाती है. दिनदहाड़े ट्रैफिक से भरी हुई सड़क पर एक कार चालक ने एक पुलिसकर्मी की जान को बुरी तरह से जोखिम में डाल दिया. न केवल पुलिसकर्मी की सुरक्षा दांव पर लग गई, बल्कि आसपास सड़क पर मौजूद सहयात्री की जान को भी खतरा हो सकता था। 
दिल्ली पुलिस  के मुताबिक, 12 अक्टूबर को धौलाकुंआ पर ,ट्रैफिक पुलिस में तैनात कॉन्स्टेबल वाहनों की चेकिंग कर रहे थे. तभी उन्होंने फैंसी नम्बर प्लेट लगी और टेढ़े-मेढ़े चलती आ रही एक कार को रोकने की कोशिश की. हालांकि रुकने की बजाय कार चालक ने रफ्तार बढ़ा दी. कॉन्स्टेबल जान बचाने के लिए वाइपर पकड़कर कार के बोनट पर चढ़ गए. इसके बाद कार चालक ने उन्हें 400 मीटर तक घसीटा। इसके बाद आरोपी ने एकदम से ब्रेक मारा और कांस्टेबल धड़ाम से नीचे आ गिरे।  उनकी जान बाल-बाल बच गई. इसके बाद कार चालक वहां से भाग निकला।  हालांकि पुलिस ने एक किलोमीटर बाद कार चालक को दबोच लिया. आरोपी की पहचान शुभम के तौर पर हुई जो उत्तम नगर का रहने वाला है। कार में उसके साथ उसका दोस्त राहुल भी बैठा था।  दिल्ली की सड़कों पर पुलिसवालों के साथ हो रही ऐसी घटनाओं से अंदाजा लगाया जा सकता है कि आम इंसान यहां कितना सुरक्षित महसूस करता होगा। 


facebook twitter instagram