+

अमेरिका से सटे क्यूबा पर ट्रम्प की पैनी नज़र, क्यूबा को किया आतंकवाद की सूची में शामिल

क्यूबा सरकार को एक बार फिर जवाबदेह बनाएंगे और एक स्पष्ट संदेश देंगे कि कास्त्रो शासन को अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद को अपना समर्थन और अमेरिकी न्याय व्यवस्था को नष्ट करना बंद कर देना चाहिए।
अमेरिका से सटे क्यूबा पर ट्रम्प की पैनी नज़र, क्यूबा को किया आतंकवाद की सूची में शामिल
डोनाल्ड ट्रंप के नेतृत्व वाले अमेरिकी प्रशासन ने देश के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के फैसले को पलटते हुए क्यूबा को ‘‘आतंकवाद को प्रायोजित करने वाले’’ देशों की सूची में फिर से शामिल किया है। यह फैसला अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के सत्ता की कमान संभालने से कुछ दिन पहले लिया गया है।
अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने सोमवार को कहा कि अमेरिका की सरकार ने हमेशा ही कास्त्रो शासन की उन संसाधनों तक पहुंच रोकने पर ध्यान केंद्रित किया है, जिनका इस्तेमाल वह ‘‘घर पर अपने लोगों को दबाने में करता है’’। इसके अलावा अमेरिका ने ‘‘वेनेजुएला और शेष पश्चिमी गोलार्द्ध में उसका हस्तक्षेप’’ रोकने की कोशिश की है।
पोम्पिओ ने कहा, ‘‘विदेश मंत्रालय ने आतंकवादियों को पनाह मुहैया कराकर अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के कृत्यों का बार-बार समर्थन करने के कारण क्यूबा को आतंकवाद को प्रायोजित करने वाले देशों की सूची में शामिल किया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस कदम के जरिए, हम क्यूबा सरकार को एक बार फिर जवाबदेह बनाएंगे और एक स्पष्ट संदेश देंगे कि कास्त्रो शासन को अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद को अपना समर्थन और अमेरिकी न्याय व्यवस्था को नष्ट करना बंद कर देना चाहिए।’’
पूर्ववर्ती ओबामा प्रशासन ने क्यूबा को इस सूची से हटा दिया था। क्यूबा को इस सूची में शामिल किए जाने के बाद उसके साथ कारोबार करने वाले देशों और लोगों को दंडित किया जा सकेगा। इस सूची में शामिल देशों को अमेरिकी विदेशी सहायता नहीं मिलती और रक्षा आयात एवं निर्यात संबंधी प्रतिबंध समेत कई प्रतिबंध लगाए जाते हैं।
facebook twitter instagram