+

मध्यप्रदेश भाजपा अध्यक्ष द्वारा बुलाई गई बैठक में पार्टी के 2 विधायक नहीं हुए शामिल

विधानसभा सत्र के दौरान एक विधेयक पर मतविभाजन में कांग्रेस का साथ दिया था। बैठक में इनकी अनुपस्थिति भाजपा के लिए चिंता का कारण हो सकती है।
मध्यप्रदेश भाजपा अध्यक्ष द्वारा बुलाई गई बैठक में पार्टी के 2 विधायक नहीं हुए शामिल
मध्यप्रदेश की तीन राज्यसभा सीटों के लिए 26 मार्च को होने वाले चुनाव के लिए अपने विधायकों को एकजुट करने के लिए मध्यप्रदेश भाजपा अध्यक्ष द्वारा यहां बुलाई गई बैठक में पार्टी के दो विधायक नारायण त्रिपाठी और शरद कोल शामिल नहीं हुए।
हालांकि, नारायण त्रिपाठी ने फोन पर बताया, ‘‘मैं दिल्ली में व्यस्त हूं। इसलिए इस बैठक में हाजिर नहीं हो पाया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे मालूम हुआ है कि विधायक शरद कोल के पास कुछ अति महत्वपूर्ण काम है, इसलिए वह अपने गांव में हैं। इसलिए वह भी इस बैठक में उपस्थित नहीं हुए।’’
मालूम हो कि इन दोनों विधायकों ने पिछले साल जुलाई में विधानसभा सत्र के दौरान एक विधेयक पर मतविभाजन में कांग्रेस का साथ दिया था। बैठक में इनकी अनुपस्थिति भाजपा के लिए चिंता का कारण हो सकती है।
इन दोनों नेताओं के करीबी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ये दोनों भाजपा विधायक पूर्व में कांग्रेसी नेता रह चुके हैं और भाजपा से कथित तौर पर असंतुष्ट चल रहे हैं।
बार बार फोन कॉल किये जाने के बावजूद मध्य प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वी डी शर्मा से सम्पर्क नहीं हो पाया।यद्यपि प्रदेश भाजपा के एक अन्य नेता ने इसकी पुष्टि की कि विधायक बैठक में शामिल नहीं हुए लेकिन इस मामले में और कुछ कहने से इनकार कर दिया।
facebook twitter