+

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया, आयुष्मान भारत के अंतरगत देश में कुल 43,022 स्वास्थ्य एवं तंदुरूस्ती केंद्र

मंत्रालय ने कहा कि देश भर में 32,000 योग सत्र का आयोजन किया गया। इन केंद्रों के स्थापित होने के बाद से कुल 14.24 लाख योग सत्र का आयोजन किया गया। बयान में कहा गया है, ‘‘इसके अलावा ये केंद्र गैर संचारी रोगों की व्यापक जांच में भी अहम भूमिका निभा रहे हैं।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया, आयुष्मान भारत के अंतरगत देश में कुल 43,022 स्वास्थ्य एवं तंदुरूस्ती केंद्र
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि देश के विभिन्न हिस्सों में कुल 43,022 स्वास्थ्य एवं तंदुरूस्ती केंद्र संचालित हो रहे हैं। इनका उद्देश्य लोगों को कई तरह की स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराना है। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि कोरोना वायरस महामारी की अवधि (जनवरी से जुलाई 2020 के बीच) के दौरान करीब 13,657 स्वास्थ्य एवं तंदुरूस्ती केंद्र खोले गये। मंत्रालय ने कहा कि ये केंद्र समुदाय को व्यापक एवं गुणवत्तापूर्ण प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करते हैं।

बयान में कहा गया है, ‘‘24 जुलाई 2020 तक, 43,022 स्वास्थ्य एवं तंदुरूस्ती केंद्र देश के विभिन्न हिस्सों में संचालित हो रहे थे।’’ मंत्रालय ने कहा कि 44.26 लाख लोग आयुष्मान भारत और तंदुरूस्ती केंद्रों द्वारा उपलब्ध कराई गई सेवाओं से 18 जुलाई से 24 जुलाई के बीच लाभान्वित हुए। बयान में कहा गया है, ‘‘14 अप्रैल से स्वास्थ्य एवं तंदुरूस्ती केंद्रों में पहुंचने वाले लोगों की संख्या में क्रमश: वृद्धि दर्ज की गई। इन केंद्रों ने गैर-कोविड आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं को प्रभावित नहीं होने देने को सुनिश्चित किया है।’’

मंत्रालय ने कहा कि देश भर में 32,000 योग सत्र का आयोजन किया गया। इन केंद्रों के स्थापित होने के बाद से कुल 14.24 लाख योग सत्र का आयोजन किया गया। बयान में कहा गया है, ‘‘इसके अलावा ये केंद्र गैर संचारी रोगों की व्यापक जांच में भी अहम भूमिका निभा रहे हैं। पिछले हफ्ते 3.83 लाख लोगों की रक्तचाप की, 3.14 लोगों की मधुमेह की, 1.15 लाख लोगों के मुंह के कैंसर की और 45,000 महिलाओं की स्तन कैंसर की तथा 36,000 महिलाओं की सर्विकल कैंसर की जांच की गई।’’

बयान में कहा गया है कि इन केंद्रों के स्थापित होने के बाद से कुल 4.72 करोड़ लोगों की रक्तचाप की, 3.14 करोड़ लोगों की मधुमेह की, 2.43 करोड़ लोगों की मुंह के कैंसर की, 1.37 करोड़ महिलाओं की स्तन कैंसर की और 91.32 लाख महिलाओं की सर्विकल कैंसर की जांच की गई।


facebook twitter