+

अंबेडकर जयंती को समरसता दिवस के रूप में मनाएगी UP भाजपा

उत्तर प्रदेश भाजपा ने कहा है कि वह इस अवसर को बूथ पर समरसता दिवस के रूप में मनाएगी।
अंबेडकर जयंती को समरसता दिवस के रूप में मनाएगी UP भाजपा
समाजवादी पार्टी द्वारा अंबेडकर जयंती पर 'दलित दिवाली' मनाने की घोषणा करने के बाद उत्तर प्रदेश भाजपा ने कहा है कि वह इस अवसर को बूथ पर 'समरसता दिवस' के रूप में मनाएगी। राज्य भाजपा प्रमुख स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि इस अवसर पर पार्टी 13 अप्रैल और 14 अप्रैल को 2 दिवसीय समारोह आयोजित करेगी। 
प्रदेश भाजपा के महासचिव गोविंद नारायण शुक्ला ने कहा कि 13 अप्रैल को पार्टी के अनुसूचित जाति मोर्चा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता अंबेडकर की प्रतिमा पर दीप प्रज्जवलित कर 'दीपोत्सव' कार्यक्रम का आयोजन करेंगे। इसके बाद 14 अप्रैल को डॉ.अंबेडकर को श्रद्धांजलि देने के लिए राज्य के लगभग 1.6 लाख बूथों पर पार्टी कार्यकर्ता इकट्ठे होंगे। 
इस कार्यक्रम में पार्टी के सांसद, विधायक और मंत्री भी शामिल होंगे। पार्टी के पदाधिकारी विभिन्न चौराहों और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर भारतीय संविधान के जनक डॉ.अंबेडकर की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण करेंगे। 
दूसरी तरफ,  उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के मुकाबले लगातार रोचक होते जा रहे हैं। इन्हीं सबके बीच सैफई कुनबे से मुलायम की भतीजी संध्या यादव को भाजपा ने जिला पंचायत का टिकट देकर उनके गढ़ में बड़ी सेंधमारी के संकेत दिए हैं। कहा जा रहा है कि भाजपा पंचायत चुनाव के माध्यम से सैफई कुनबे में सेंधमारी करके विधानसभा का रास्ता तैयार कर रही है। 
सपा सरंक्षक मुलायम सिंह यादव के बड़े भाई अभयराम यादव की बेटी संध्या यादव बदायूं से सांसद रहे धर्मेद्र यादव की बड़ी बहन है। संध्या ने जिला पंचायत घिरोर सीट के तृतीय वार्ड से नामांकन किया है। ऐसा पहली बार हो रहा है कि जब मुलायम परिवार का कोई सदस्य भाजपा से चुनाव लड़ने जा रहा है। 
दरअसल, राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो संध्या यादव को 2016 में सपा ने टिकट देकर जिला पंचायत अध्यक्ष बनाया था, लेकिन चाचा भतीजे के पारिवारिक झगड़े में वह राजनीति का शिकार हुईं। 2017 के बीच संध्या यादव के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था। उसके बाद लोकसभा चुनाव के दौरान संध्या यादव के पति अनुजेश प्रताप सिंह यादव भाजपा में शामिल हो गए थे।
facebook twitter instagram