+

UP सरकार ने श्रीकांत त्यागी पर लिया सख्त एक्शन तो सोसाइटी में बंटी मिठाइयां !

नोएडा की सोसाइटी में हुए हंगामे के बाद अब सरकार एक्शन में आ गई है। जानकारी के आधार पर गालीबाज नेता यानी की श्रीकांत त्यागी हंगामे के बाद से फरार है जिसके बाद पुलिस द्वारा पहले त्यागी की गाड़ियां जब्त की गई। यहीं अब उनके अवैध निर्माण पर बुलडोज़र चलवा दिया गया है।
UP सरकार ने श्रीकांत त्यागी पर लिया सख्त एक्शन तो सोसाइटी में बंटी मिठाइयां !
नोएडा की सोसाइटी में हुए हंगामे के बाद अब सरकार एक्शन में आ गई है। जानकारी के आधार पर गालीबाज नेता यानी की श्रीकांत त्यागी हंगामे के बाद से फरार है जिसके बाद पुलिस द्वारा पहले त्यागी की गाड़ियां जब्त की गई। यहीं अब उनके अवैध निर्माण पर बुलडोज़र चलवा दिया गया है। इसी बीच बता दें महिला के साथ अभद्रता करने के आरोपी श्रीकांत त्यागी के समर्थन में पीड़ित महिला के साथ बदसलूकी करने और उसे धमकाने के आरोप में छह लोगों को गिरफ्तार किया है। सूत्रों के मुताबिक पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि सभी आरोपी गाजियाबाद के रहने वाले हैं। गिरफ्तार लोगों के कुछ साथी मौके से भाग निकले। पुलिस उनकी तलाश कर रही है।
धमकाने के आरोप में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया 
 प्रवक्ता ने बताया कि सेक्टर 93-बी स्थित एक सोसायटी में रहने वाली पीड़ित महिला के घर रविवार रात लोकेंद्र त्यागी, राहुल त्यागी, रवि पंडित, प्रिंस त्यागी, नितिन त्यागी, चर्चिल राणा सहित 10 से अधिक लोग पहुंचे। इन लोगों ने श्रीकांत त्यागी के खिलाफ मामला दर्ज कराने वाली महिला के साथ बदसलूकी की और उसे धमकाया। उन्होंने बताया कि मौके पर पहुंची पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इनके कुछ साथी फरार हैं।
 गिरफ्तार लोगों के कुछ साथी मौके से भाग निकले
 पुलिस उनकी तलाश कर रही है। इन सभी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। गौरतलब है कि महिला ने सेक्टर-93बी में आवासीय सोसायटी में नियमों के उल्लंघन का हवाला देते हुए श्रीकांत त्यागी द्वारा कुछ पेड़ लगाने पर आपत्ति जताई थी, जिसके बाद त्यागी ने महिला के साथ कथित तौर पर अभ्रद व्यवहार किया और उसे धक्का भी दिया था। घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर प्रसारित हो गया था। मामला दर्ज होने के बाद से ही त्यागी फरार है। आरोपी श्रीकांत त्यागी के खिलाफ पहले से ही हत्या के प्रयास सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामले दर्ज हैं। वह खनन के कारोबार में भी संलिप्त है। उसके BJP  का करीबी होने की बात भी कही जा रही है। यहीं आपको बता दें करीब 10 साल पहले पाकिस्तान के नंबर से मिली धमकी के बाद वह चर्चा में आया था। इस संबंध में शिकायत करने के बाद उसे पुलिस सुरक्षा दी गई थी, जिसको लेकर भी विवाद है कि आखिर उसे सुरक्षा किस आधार पर दी गई थी।
facebook twitter instagram