+

UP पुलिस ने 220 ट्रैक्टर मालिकों को जारी किया नोटिस, सपा नेता बोले-किसानों को धमकाने वाला कदम

नोटिस में उल्लेख किया गया है कि "ट्रैक्टरों का इस्तेमाल सार्वजनिक सड़कों पर व्यावसायिक काम के लिए किया गया था, और नाबालिग उन्हें चला रहे थे। इसके परिणामस्वरूप सड़क दुर्घटनाएं हुईं। अवैध खनन में भी ट्रैक्टरों का इस्तेमाल किया गया था।"
UP पुलिस ने 220 ट्रैक्टर मालिकों को जारी किया नोटिस, सपा नेता बोले-किसानों को धमकाने वाला कदम
उत्तर प्रदेश पुलिस ने राज्य के विभिन्न जिलों में लगभग 220 ट्रैक्टर मालिकों को नोटिस जारी किए हैं। प्रदेश पुलिस के इस एक्शन पर समाजवादी पार्टी के नेता राम गोविंद चौधरी ने योगी सरकार को घेरते हुए इस कदम को किसानों को धमकाने वाला बताया है। हालांकि, पुलिस ने कहा कि नोटिस का कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के विरोध से कोई लेना-देना नहीं है।
सिकंदरपुर पुलिस स्टेशन के एसएचओ बाल मुकुंद मिश्रा ने कहा, "बलिया के सिकंदरपुर थाना क्षेत्र में 220 ट्रैक्टर मालिकों को नोटिस दिया गया है। नोटिस में यह उल्लेख किया गया है कि ट्रैक्टरों का इस्तेमाल सार्वजनिक सड़कों पर व्यावसायिक काम के लिए किया गया था, और नाबालिग उन्हें चला रहे थे। इसके परिणामस्वरूप सड़क दुर्घटनाएं हुईं। अवैध खनन में भी ट्रैक्टरों का इस्तेमाल किया गया था।" 
यह पूछे जाने पर कि क्या पुलिस इस तरह का नोटिस जारी कर सकती है, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी राजेश्वर यादव ने कहा कि उन्हें ऐसी किसी भी बात की जानकारी नहीं है। इस बीच, उत्तर प्रदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता और वरिष्ठ सपा नेता राम गोविंद चौधरी ने कहा, "किसानों के पास ट्रैक्टर है और वे ट्रैक्टरों द्वारा विरोध स्थल पर जा रहे हैं। पुलिस ने किसान आंदोलन में बाधा डालने के लिए नोटिस जारी किए हैं।"  
facebook twitter instagram