+

उत्तराखंड : सड़क धंसने से यमुनोत्री हाईवे बंद, फंसे 3 हजार यात्री, सख्त हुए पंजीकरण के नियम

उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में रानाचट्टी कर स्यानाचट्टी के बीच सड़क धंसने से यमुनोत्री हाईवे पर बड़े वाहनों को प्रवेश करने से रोक दिया गया है।
उत्तराखंड : सड़क धंसने से यमुनोत्री हाईवे बंद, फंसे 3 हजार यात्री, सख्त हुए पंजीकरण के नियम
उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में रानाचट्टी और स्यानाचट्टी के बीच सड़क धंसने से यमुनोत्री हाईवे पर बड़े वाहनों को प्रवेश करने से रोक दिया गया है, जिसके बाद से यमुनोत्री क्षेत्र में करीब तीन हजार यात्री फंस गए हैं। इसके अलावा चारधाम यात्रा पर आए विभिन्न स्थानों पर करीब छह श्रद्धालुओं की हार्टअटैक से मौत हो गई है।  
ऋषिकेश से ऊपर नहीं जा पा रहे हैं तीर्थयात्री
यमुनोत्री हाईवे पर यात्रा प्रभावित होने से यात्री डामटा से जानकीचट्टी के बीच रुके हुए हैं और इसके खुलने का इंतजार कर रहे हैं। इस बारे में एनएच के अधिकारी ने बताया कि, सड़क की मरम्मत कर कार्य जारी है, ठीक होते ही मार्ग को खोल दिया जाएगा। इसके अलावा चारधाम यात्रा पर जा रहे तीर्थ यात्रियों को ऋषिकेश से ऊपर जाने से रोक दिया गया है, क्योंकि यात्रियों के लिए ऑफलाइन पंजीकरण पर रोक लगा दी गई है और रजिस्ट्रेशन के बिना यात्री यहां से ऊपर नहीं जा सकते। ऐसे में हरिद्वार, ऋषिकेश सहित में करीब साढ़े नौ हजार तीर्थ यात्री फंसे हुए हैं। 
एक सप्ताह से अधिक समय का नहीं किया जाएगा ऑफलाइन पंजीकरण
बता दें कि, हरिदर और ऋषिकेश में फंसे यात्रियों ने सभी के होटल, धर्मशाला, लॉज में शरण ली हुई है, जिस कारण इन स्थानों पर यात्रियों की भीड़ बढ़ गई है। इस बीच पर्यटन विभाग ने ऑफलाइन पंजीकरण की व्यवस्था को और सख्त बना दिया है। एक अधिकारी ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि, अब ऑफलाइन पंजीकरण सीएफ एक सप्ताह के भीतर ही होगा और एक सप्ताह के भीतर से अधिक समय का पंजीकरण नहीं किया जाएगा।  



facebook twitter instagram